December 06, 2016

ताज़ा खबर

 

अमेरिका में भारतीय नागरिक ने आतंकवादी साजिश रचने का कबूल किया गुनाह

अमेरिका में शरण लिए 42 साल के एक भारतीय व्यक्ति ने खालिस्तानी आतंकवादियों को कथित रूप से सहयोगी सामग्री और संसाधन उपलब्ध करा कर अधिकारियों की हत्या सहित भारत में आतंकी साजिश रचने का अपना गुनाह कबूल लिया है।

Author न्यूयॉर्क | November 30, 2016 10:47 am
(Washoe County Sheriff’s Office via AP)

अमेरिका में शरण लिए 42 साल के एक भारतीय व्यक्ति ने खालिस्तानी आतंकवादियों को कथित रूप से सहयोगी सामग्री और संसाधन उपलब्ध करा कर अधिकारियों की हत्या सहित भारत में आतंकी साजिश रचने का अपना गुनाह कबूल लिया है। अमेरिका में कार्यकारी सहायक अटॉर्नी जनरल फॉर नेशनल सिक्युरिटी मेरी मैककॉर्ड ने बताया कि नेवादा के रहने वाले बालविंदर सिंह ने यूएस डिस्ट्रिक्ट जज लैरी हिक्स के समक्ष आतंकवादियों को सहयोगी सामग्री उपलब्ध कराने के मकसद से साजिश रचने का अपना गुनाह कबूल लिया। बलविंदर यह जानता था कि उसकी मदद से विदेशों में आतंकवादी हमलों को अंजाम दिया सकता है।

मेरी ने कहा, ‘‘सिंह ने विदेश में हिंसा और हंगामे के मकसद से आतंकवादियों को सहयोगी सामग्री और संसाधन उपलब्ध कराने का प्रयास किया।’ उन्होंने कहा, ‘‘अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद में शामिल व्यक्ति की पहचान, उसे रोकना और इसके लिए जिम्मेदार ठहराना अमेरिकी न्याय विभाग की शीर्ष प्राथमिकता है।’

‘झाजी’, ‘हैप्पी’ और ‘‘बलजीत सिंह’’ उर्फ बलविंदर सिंह को 2013 के दिसंबर में हिरासत में लिया गया था और गिरफ्तारी के बाद आरोप लगाया गया था। उसे कानूनी रूप से अधिकतम 15 साल की जेल और रिहा किए जाने के बाद देश से बाहर भेजे जाने की सजा हुई। उसकी सजा 27 फरवरी को तय हुई थी।

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद महिला कार्यकर्ताओं ने हाजी अली दरगाह में किया प्रवेश

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 30, 2016 10:27 am

सबरंग