December 05, 2016

ताज़ा खबर

 

जापान ने खत्‍म किया हथियारों के निर्यात पर बैन, सबसे पहले भारत को देगा हवा-पानी में चलने वाले एयरक्राफ्ट

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जापान दौरे के दौरान इससे जुड़े समझौते पर हस्‍ताक्षर किए जाएंगे।

भारत विकासशील देशों में अग्रणी हथियार खरीदने वाला देश है।

भारत और जापान के बीच सोमवार को हवा और पानी, दोनों में चलने वाले 12 राहत एयरक्राफ्ट का सौदा होने वाला है। रविवार को एक जापानी अखबार में छपी रिपोर्ट के अनुसार, जापानी निर्मााता शिनमायवा इंडस्‍ट्रीज के साथ होने वाला यह सौदा 1.5 बिलियन डॉलर- 1.6 बिलियन डॉलर के बीच में हो सकता है। जापान और भारत के बीच पिछले दो साल से भी ज्‍यादा समय से बातचीत चल रही है। प्रधानमंत्री शिंजो आबे द्वारा हथियारों के निर्यात पर लगे 50 साल के प्रतिबंध को हटाने के बाद यह जापान की पहली सैन्‍य हथियारों की बिक्री होगी। इससे भारत और जापान के बीच मजबूत होते रक्षा रिश्‍तों का भी पता चलता है। अखबार ने मंत्रालय के वरिष्‍ठ अधिकारियों के हवाले से लिखा है कि सोमवार को रक्षा खरीद परिषद की बैठक  में 12 यूएस-2 एयरक्राफ्ट की खरीदारी को भारत का रक्षा मंत्रालय मंजूरी देगा। गुरुवार से शनिवार तक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जापान दौरे के दौरान इससे जुड़े समझौते पर हस्‍ताक्षर किए जाएंगे। रॉयटर्स के अनुसार, मोदी के दौरे के दौरान जापानी पीएम शिंजो आबे भारतीय पीएम से जापान की हाई-स्‍पीड ट्रेन तकनीक का इस्‍तेमाल बढ़ाने की अपील करेंगे। पीएम मोदी ने भारत में जापान की मशहूर बुलेट ट्रेन चलाने का वायदा 2014 के लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान किया था।

वीडियो: दिल्‍ली के आसमान पर छाई कोहरे की काली चादर, जानलेवा हुआ प्रदूषण का स्‍तर

भारत विकासशील देशों में अग्रणी हथियार खरीदने वाला देश है। पिछले वर्ष भारत ने 5.8 अरब डालर के हथियार खरीदे। भारत अब भी सर्वाधिक हथियार रूस से खरीदता है। यह जानकारी बीते सितंबर को अमेरिकी संसद (कांग्रेस) की एक रिपोर्ट में  दी गई थी। हालांकि भारत इस्राइल, फ्रांस और अमेरिका से हथियार खरीदकर आपूर्तिकर्ताओं मेंं विविधता ला रहा है। रिपोर्ट में कहा गया था कि विकासशील देशों के साथ हथियार हस्तांतरण के लिए सबसे अधिक करार अमेरिका द्वारा किए गए। रिपोर्ट में कहा गया था कि अंतरराष्ट्रीय अर्थव्यवस्था में उतार-चढ़ाव के बावजूद पूरब और एशिया के कुछ देश अब भी अग्रणी हथियार खरीदार बने हुए हैं। ये खरीदारी दोनों क्षेत्रों के कुछ विकासशील देशों द्वारा की जा रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 7, 2016 2:15 pm

सबरंग