ताज़ा खबर
 

भारत एकजुट, स्थिर श्रीलंका के पक्ष में खड़ा है: नरेंद्र मोदी

श्रीलंका के पश्चिम और दक्षिण प्रांतों में भारत की सहायता से आपात एंबुलेंस सेवा के शुभारंभ पर नरेंद्र मोदी ने वीडियो संदेश जारी किया।
Author कोलंबो | July 28, 2016 22:08 pm
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। (पीटीआई फाइल फोटो)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार (28 जुलाई) को कहा कि भारत एकजुट, स्थिर और समृद्ध श्रीलंका के पक्ष में खड़ा है तथा उस देश के (श्रीलंका के) साथ उसका (भारत का) विकास सहयोग उसकी जनता और नेतृत्व के आकांक्षाओं के अनुरूप होगा। श्रीलंका के पश्चिम और दक्षिण प्रांतों में भारत की सहायता से आपात एंबुलेंस सेवा के शुभारंभ पर अपने वीडियो संदेश में मोदी ने कहा, ‘आज, भारत की क्षमताओं और आपकी जरूरतों के बीच साझेदारी न केवल हमारे लोगों के जीवन को स्पर्श कर रही है बल्कि यह सकारात्मक क्षेत्रीय सहयोग का हमारा मार्ग भी प्रदर्शित करती है।’ उन्होंने कहा, ‘श्रीलंका के साथ भाारत का विकास सहयोग आर्थिक गतिविधियों के कई क्षेत्रों की कई परियोजनाएं में परिलक्षित है जो श्रीलंका के विभिन्न भागों में फैली हैं। लेकिन यह आपकी आकांक्षाओं के हिसाब से ही होना चाहिए। यही वजह है कि हमारी सहयोगपरक परियोजनाएं श्रीलंका के लोगों, नेतृत्व और सरकार की पसंदों और प्राथमिकताओं पर निर्भर करती हैं।’

यह रेखांकित करते हुए कि भारत एकजुट, स्थिर और समृद्ध श्रीलंका के पक्ष में है, उन्होंने कहा, ‘यह भी हमारी साझेदारी का लक्ष्य है। और आपात एंबुलेंस सेवा इस दोस्ती का अनोखा उदाहरण है।’ मोदी ने कहा कि भारत की करीब 75.5 लाख डॉलर की अनुदान सहायता के मार्फत लागू की जा रही मुफ्त एंबुलेंस सेवा परियोजना इस बात के प्रयास का ठोस नतीजा है कि कैसे भारत और श्रीलंका के बीच की साझेदारी जमीनी स्तर पर लोगों को लाभान्वित करती है। उन्होंने कहा, ‘यह इस बात का उदाहरण है कि कैसे भारतीय अनुभव, क्षमताएं और श्रेष्ठ पद्धतियां श्रीलंका में हमारे दोस्तों की जरूरतें पूरी कर सकती हैं।’

इस मौके पर श्रीलंका के प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे ने कहा कि दोनों देशों के बीच सदियों से व्यापारिक एवं सांस्कृतिक संबंध हैं। उन्होंने कहा, ‘हमें भारत के साथ अपने संबंधों को और मजबूत बनाने की कोशिश करनी चाहिए।’ पिछले साल मार्च में श्रीलंका की यात्रा के दौरान मोदी को श्रीलंका में आपात एंबुलेंस सेवा की स्थापना करने में सहायता का अनुरोध मिला था। मोदी ने पूर्ण सहयोग का आश्वासन दिया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.