ताज़ा खबर
 

मुंबई हमला: पाकिस्तान ने कहा, हाफ़िज़ सईद के ख़िलाफ़ ठोस सबूत लाए भारत

पाकिस्तानी गृह मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने कहा, ‘भारत पाकिस्तान को बदनाम करने के लिए सईद की राजनीतिक गतिविधियों का निरंतर उपयोग करता रहा है।'
Author इस्लामाबाद | February 1, 2017 22:18 pm
मुंबई हमले (26/11) के दौरान होटल ताज। इस हमले में 166 लोग मारे गए थे। (फाइल फोटो)

पाकिस्तान ने बुधवार (1 फरवरी) को भारत से कहा कि अगर वह जमात-उद-दावा के सरगना हाफिज सईद के खिलाफ अपने आरोपों को लेकर गंभीर है तो उसे ‘ठोस सबूत’ लाना चाहिए। इससे एक दिन पहले भारत ने कहा था कि मुंबई हमले के मास्टरमाइंड सईद पर विश्वसनीय कार्रवाई ही इस्लामाबाद की गंभीरता का प्रमाण होगी। पाकिस्तानी गृह मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने सईद को नजरबंद किए जाने का हवाला देते हुए कहा, ‘पाकिस्तान ने हाफिज सईद के संदर्भ में जो हालिया कार्रवाई की है उसमें उसे भारत के प्रमाणापत्र या अनुमोदन की जरूरात नहीं है।’ उन्होंने कहा, ‘भारत पाकिस्तान को बदनाम करने के लिए सईद की राजनीतिक गतिविधियों का निरंतर उपयोग करता रहा है। अंतरराष्ट्रीय समुदाय को इस बात का संज्ञान लेना चाहिए कि पाकिस्तान एक लोकतांत्रिक समाज है जहां न्यायपालिका स्वतंत्र और पारदर्शी फैसले करती है।’ प्रवक्ता ने कहा, ‘अगर भारत अपने आरोपों को लेकर गंभीर है तो उसे हाफिज सईद के खिलाफ ऐसा ठोस सबूत लाना चाहिए जो पाकिस्तान या दुनिया के किसी भी अदालत में टिक सके।’ पाकिस्तानी गृह मंत्रालय ने सईद और 37 अन्य लोगों के नाम ‘एग्जिट कंट्रोल लिस्ट’ में डाल दिया है। दो दिन पहले सईद को नजरबंद किया गया था।

इससे पहले बुधवार (1 फरवरी) को पाकिस्तान के एक वरिष्ठ मंत्री ने कहा है कि जमात-उद-दावा के सरगना हाफिज सईद के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की जाएगी, हालांकि उन्होंने यह स्पष्ट नहीं किया कि किस मामले में मुंबई हमले के मास्टरमाइंड के खिलाफ मामला दर्ज होगा। वाणिज्य मंत्री खुर्रम दस्तगीर ने कहा, ‘सारे हालात को ध्यान में रखते हुए सईद के खिलाफ कदम उठाया गया है। सरकार ने फिलहाल सईद को नजरबंद किया है, पर उसके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की जाएगी।’ यह पूछे जाने पर किस मामले में सईद के खिलाफ मामला दर्ज होगा तो दस्तगीर ने कहा, ‘कुछ दिनों में इस बारे में पता चल जाएगा।’ पंजाब प्रांत के कानून मंत्री राना सनाउल्ला ने कहा कि आने वाले दिनों में जमात-उद-दावा (जेयूडी) एवं फलाह-ए-इंसानियत (एफआईएफ) के और कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया जाएगा। उन्होंने कहा, ‘हम जेयूडी एवं एफआईएफ के संदिग्ध कार्यकर्ताओं की गतिविधियों पर नजर रख रहे हैं तथा आतंकवाद विरोधी कार्यकर्ताओं के तहत और लोगों को हिरासत में लिया जाएगा।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.