ताज़ा खबर
 

डोनाल्‍ड ट्रंप ने बनाई ड्रग्‍स की तस्‍करी करने वाले देशों की लिस्‍ट, भारत-पाकिस्‍तान दोनों शामिल

ट्रंप ने कहा ने कहा कि इस सूची में किसी देश की मौजूदगी उस देश की सरकार के नशीले पदार्थ विरोधी प्रयासों और अमेरिका के साथ सहयोग के स्तर को प्रतिबिम्बित नहीं करती।
Author नई दिल्ली | September 14, 2017 14:18 pm
(Express Photo/Reuters)

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अवैध रूप से नशीले पदार्थों का उत्पादन या तस्करी करने वाले देशों के तौर पर भारत समेत 21 देशों की पहचान की है। भारत के अलावा नशीले पदार्थों का उत्पादन या तस्करी करने वाले देशों के तौर पर जिन अन्य दक्षिण एशियाई देशों की पहचान की गई है, उनमें अफगानिस्तान और पाकिस्तान शामिल हैं। म्यांमार भारत का एक और पड़ोसी देश है, जो इस सूची में शामिल है। इसके अलावा बहामा, बेलीज, बोलिविया, कोलंबिया, कोस्टा रिका, डोमिनिकन गणराज्य, इक्वाडोर, एल सल्वाडोर, ग्वाटेमाला, हैती, होंडुरास, जमैका, लाओस, मैक्सिको, निकारागुआ, पनामा, पेरू और वियतनाम इस सूची में शामिल हैं।

ट्रंप ने कहा, ‘‘इस सूची में किसी देश की मौजूदगी उस देश की सरकार के नशीले पदार्थ विरोधी प्रयासों और अमेरिका के साथ सहयोग के स्तर को प्रतिबिम्बित नहीं करती।’’ उन्होंने बताया कि इस सूची में किसी देश को रखने का मुख्य कारण भौगोलिक, वाणिज्यिक और आर्थिक कारक हैं, जिनके कारण इन पदार्थों की तस्करी या उत्पादन होता है, भले ही उस देश की सरकार ने नशीले पदार्थों के नियंत्रण संबंधी कानूनी कदम उठाने के लिए कितने भी प्रयास क्यों न किए हों। इसके साथ ही ट्रंप ने बोलिविया और वेनेजुएला को ऐसे देशों के तौर पर चिह्नित किया है, जो नशीले पदार्थ विरोधी अंतरराष्ट्रीय समझौतों के तहत पिछले 12 महीनों में अपनी प्रतिबद्धताओं का पालन करने में बुरी तरह असफल रहे हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘ इसके अलावा, अमेरिका सरकार ने कोका की अत्यधिक पैदावार और पिछले 12 महीनों मे कोकीन की रिकॉर्ड पैदावार समेत पिछले तीन साल में इसके उत्पादन के कारण नशीले पदार्थ विरोधी अंतरराष्ट्रीय समझौतों के तहत अपनी प्रतिबद्धताओं को पूरा करने में बुरी तरह असफल रहने वाले देश के तौर पर कोलंबिया को भी चिह्नित करने पर गंभीरता से विचार किया।’’ ट्रंप ने कहा कि कोलंबिया को इस सूची में इसलिए शामिल नहीं किया गया, क्योंकि कोलंबियाई राष्ट्रीय पुलिस और सशस्त्र बल पश्चिमी गोलार्द्ध में अमेरिका के नजदीकी कानून प्रवर्तन एवं सुरक्षा साझीदार हैं और वे प्रतिबंध सभी प्रयासों में सुधार कर रहे हैं और उन्होंने नशीले पदार्थ विरोधी प्रयास पुन: आरंभ कर दिए हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.