ताज़ा खबर
 

भारत ने मोजाम्बिक को सौंपे 30 एसयूवी, 45 लाख डॉलर की अनुदान सहायता

प्रधानमंत्री मोदी ने सेंटर फॉर इनोवेशन एंड टेक्नोलॉजिकल डेवलपमेंट (सीआईडीटी) को भारत की तरफ से दान के तौर पर चार बसें सौंपी।
Author मापुतो (मोजाम्बिक) | July 8, 2016 09:44 am
मोजाम्बिक की राजधानी मापुतो में गुरुवार (7 जुलाई) को संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। (PTI Photo by Kamal Singh)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मोजाम्बिक यात्रा के दौरान भारत ने गुरुवार (7 जुलाई) को इस देश को 30 एसयूवी सौंपे । इन वाहनों को सौंपकर भारत ने इस अफ्रीकी देश की संस्थाओं को समर्थन प्रदान के तहत 45 लाख अमेरिकी डॉलर की अनुदान सहायता पूरी की है। विदेश मंत्रालय में सचिव (आर्थिक संबंध) अमर सिन्हा ने मोजाम्बिक के गृह मंत्रालय के एक अधिकारी को ये वाहन सौंपे। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने ट्वीट किया, ‘30 महिंद्रा एसयूवी सौंपने के साथ ही भारत ने गृह मंत्रालय को 45 लाख अमेरिकी डॉलर की अनुदान सहायता पूरी कर ली है।’

प्रवक्ता ने वाहनों को सौंपने के लिए आयोजित कार्यक्रम की कुछ तस्वीरें ट्विटर पर साझा की और लिखा, ‘मोजाम्बिक की संस्थाओं का समर्थन। एक अलग कार्यक्रम में सचिव (आर्थिक संबंध) गृह मंत्रालय को वाहन सौंपते हुए।’ इससे कुछ ही देर पहले प्रधानमंत्री मोदी ने सेंटर फॉर इनोवेशन एंड टेक्नोलॉजिकल डेवलपमेंट (सीआईडीटी) को भारत की तरफ से दान के तौर पर चार बसें सौंपी। विकास ने ट्वीट किया, ‘नवोन्मेष के नए इंजन। पीएम नरेंद्र मोदी ने सीआईटीडी को चार बसें दान की।’

प्रधानमंत्री ने सीआईडीटी के परिसर का जायजा लिया और वहां आईटीईसी एवं अन्य कार्यक्रमों के तहत भारत में पढ़ाई कर चुके छात्रों से मुखातिब हुए। बाद में मोदी ने भारतीय समुदाय को संबोधित किया और अफ्रीका की तारीफ करते हुए इसे एक ऐसी जगह करार दिया जिसने पूरी दुनिया में भारतीय समुदाय की पहचान को आकार देने में मदद की। मोजाम्बिक की अपनी एक दिन की यात्रा संपन्न करने से पहले इस संक्षिप्त संबोधन में मोदी ने कहा, ‘अफ्रीका एक ऐसी सरजमीं है जहां से भारतीयों को एक अंतरराष्ट्रीय पहचान मिली। अफ्रीका एक ऐसी सरजमीं है जिसने दुनिया में भारतीयों की पहचान को आकार दिया।’

प्रधानमंत्री ने कहा कि यहां मौजूद लोगों में कुछ ऐसे भी होंगे जो चौथी पीढ़ी के भारतीय होंगे। उन्होंने कहा कि इन लोगों ने स्थानीय समाज से घुलने मिलने के बावजूद भारत की संस्कृति और पहचान का संरक्षण किया है। उन्होंने कहा कि यहां मौजूद कई भारतीय कच्छ से होंगे, जो मोदी के गृह राज्य गुजरात में है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.