December 07, 2016

ताज़ा खबर

 

LoC पर पाकिस्तान के 7 जवानों की मौत के बाद भारतीय उच्चायुक्त को तलब

विदेश सचिव ऐजाज चौधरी ने एलओसी पर भारतीय बलों पर बिना उकसावे के संघर्ष-विराम उल्लंघन का आरोप लगाते हुए इसकी निंदा की।

Author इस्लामाबाद | November 15, 2016 13:42 pm
पाकिस्तान के विदेश सचिव एजाज चौधरी। (एपी फाइल फोटो)

पाकिस्तान ने सोमवार (14 नवंबर) को भारतीय उच्चायुक्त गौतम बंबावाले को तलब किया और पाकिस्तान के सात जवानों की मौत के बाद नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर भारत द्वारा संघर्ष-विराम उल्लंघन बढ़ने का आरोप लगाते हुए इसकी निंदा की और चेतावनीभरे अंदाज में कहा कि भारत का ‘लड़ाकू’ रवैया रणनीतिक स्थिति को बिगाड़ेगा। विदेश सचिव ऐजाज चौधरी ने सोमवार शाम को भारतीय उच्चायुक्त को तलब किया और एलओसी पर भारतीय बलों पर बिना उकसावे के संघर्ष-विराम उल्लंघन का आरोप लगाते हुए इसकी निंदा की। भीमबेर क्षेत्र में भारतीय जवानों की कार्रवाई में सात पाकिस्तानी सैनिकों के मारे जाने की बात कही गयी है।

एक बयान के मुताबिक विदेश सचिव ने एलओसी और कामकाजी सीमा पर खासतौर पर पिछले दो महीने में भारत की ओर से संघर्ष विराम-उल्लंघन का आरोप लगाया और इसकी निंदा की। बयान के अनुसार उन्होंने कहा कि भारतीय बलों का यह लड़ाकू रवैया क्षेत्रीय शांति और सुरक्षा के लिए गंभीर खतरा है और इससे रणनीतिक स्थिति बिगड़ सकती है। विदेश सचिव ने भारतीय उच्चायुक्त से भारत की सरकार को यह संदेश पहुंचाने को कहा कि उसे ‘बिना उकसावे के गोलीबारी रोकनी चाहिए और संघर्ष-विराम का पालन करना चाहिए।’ बयान में उनके हवाले से कहा गया कि पाकिस्तान संयम की नीति अपना रहा है जिसे कमजोरी का संकेत नहीं माना जाना चाहिए।

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के सशस्त्र बल गोलीबारी की शुरुआत नहीं करते लेकिन अगर गोलीबारी की गयी तो हमेशा मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा। पाकिस्तान ने एक सप्ताह में दूसरी बाद भारतीय उच्चायुक्त को तलब किया है। इससे पहले उसने 10 नवंबर को बंबावाले को विदेश कार्यालय बुलाया था और भारतीय बलों द्वारा कथित संघर्ष-विराम उल्लंघन और हथियारों के इस्तेमाल पर विरोध दर्ज कराया था। प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने सोमवार को दिन में कहा था कि उनका देश किसी भी हमले से अपने क्षेत्र को बचाने में पूरी तरह सक्षम है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 15, 2016 9:33 am

सबरंग