December 08, 2016

ताज़ा खबर

 

IMF ने नोट बैन करने पर नरेंद्र मोदी को चेताया- देखिए, उथल-पुथल होने से बचाइए

अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने भारत के पुराने नोटों को बंद करने के फैसले की तारीफ की है लेकिन इस बात का भी ध्यान रखने को कहा है कि नोटों के बदलाव को वह सही से मैनेज करे जिससे लोगों को कम-से-कम परेशानी हो।

एटीएम से पैसा निकालने के लिए अपनी बारी का इंतजार करते लोग। (Source: Reuters)

अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने भारत सरकार के 1000 और 500 रुपये के पुराने नोटों को बंद करने के फैसले पर अपना समर्थन दिया है। आईएमएफ ने भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई में इस फैसले को एक सकारात्मक कदम बताया है लेकिन इस बात पर भी जोर दिया है कि भारत नए नोटों को लाने के दौरान अपनी अर्थव्यवस्था को स्थिर बनाए रखे। आईएमएफ के प्रवक्ता गैरी रीस ने रिपोर्टरों से बात करते हुए कहा कि वह भारत के भ्रष्टाचार से लड़ने और अर्थव्यवस्था में गैरकानूनी तरीकों से आने वाले पैसे को रोकने के लिए उठाए गए कदम का समर्थन करते हैं। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा है कि भारत में ज्यादातर कामों के लिए लोग बड़े पैमाने पर कैश के जरिए ही लेन-देन होता है और ऐसी स्थिति में सरकार को कोशिश करनी चाहिए कि वह करेंसी नोटों को बदलने का काम ऐसे मैनेज करे जिससे लोगों को कम-से-कम परेशानियों का सामना करना पड़े।

वीडियो: “2000 रुपए के नोट सिर्फ बैंक से मिलेंगे, ATM से नहीं”: SBI चैयरमेन

आज से देश में पुराने नोटों को बदलने का काम शुरु किया जा चुका है। देशभर के सभी बैंकों और एटीएम में 2000 रुपये के नए नोट लाए गए हैं। नोटों को बदलने के लिए सरकार ने एक बार में एटीएम से एक दिन में 2000 रुपये और बैंक से 4000 रुपये निकालने की सीमा तय की है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 11, 2016 12:58 pm

सबरंग