December 06, 2016

ताज़ा खबर

 

तबाही के बाद ओट्टो तूफान प्रशान्त महासागर की ओर मुड़ा, कोस्टा रिका में नौ की मौत

तूफान का केन्द्र अल सल्वाडोर की राजधानी सान सल्वाडोर के दक्षिण-दक्षिणपूर्व में करीब 395 किमी दूर स्थित था, जबकि तूफान की रफ्तार करीब 95 किमी प्रति घंटे थी।

Author सैन जोस | November 26, 2016 17:05 pm
कोस्टारिका के बगासेस में तूफान ओट्टो की वजह से आए भूस्खलन में बर्बाद घर के सामने से गुजरती एक महिला। (REUTERS/ Juan Carlos Ulate/25 Nov, 2016)

उष्णकटिबंधीय तूफान ओट्टो के कारण कोस्टा रिका मे कम से कम नौ लोगों की मौत हो गयी। तूफान के कारण मध्य अमेरिका में भूस्खलन आ गया, जिसके बाद यह प्रशान्त महासागर की ओर मुड़ गया। कोस्टा रिका के राष्ट्रपति लुईस गुएलेरमो सोलिस ने कोस्टा रिका-निकारागुआ सीमा के दक्षिणी शहर बगासेस और उपाला इलाके में नौ लोगों के मारे जाने की घोषणा की। इससे पहले उन्होंने बिजागुआ में छह लोगों के लापता होने की बात कही थी। सोलिस ने कहा कि तूफान के कारण कुछ घंटों के लिए इलाके में इतना पानी भर गया, जो सामान्य तौर पर एक माह की बारिश में आता है। उन्होंने कहा कि कुछ लोग इस बढ़ते हुये पानी के बीच में फंस गये हैं। तूफान के बाद अमेरिका ने इलाके के लापता लोगों की तलाशी और बचाव कार्य के लिए हवाई जहाज भेजे, जबकि पड़ोसी पनामा ने तूफानी बारिश के कारण उफनाई नदियों वाले इलाके में हवाई जहाज और हेलीकॉप्टर की मदद भेजी।

तूफान ओट्टो के कारण बृहस्पतिवार को निकारागुआ के कैरेबियाई तट पर भूस्खलन हुआ। यह ज्यादा खतरनाक नहीं था और शुक्रवार (25 नवंबर) सुबह पूर्वी प्रशान्त महासागर की ओर मुड़ने से पहले इस उष्णकटिबंधीय तूफान का वेग कम हो गया। निकारागुआ के अधिकारियों ने बताया कि तूफान के कारण अनेक मकान ध्वस्त हो गये हैं, लेकिन अभी तक किसी के हताहत होने की खबर नहीं है। इससे पहले तूफान के कारण हुई भारी बारिश से पनामा में तीन लोगों की मौत हो गयीं थी। ओट्टो तूफान निकारागुआ के मकई द्वीप से टकराया और इससे उठने वाली करीब साढ़े तीन मीटर की लहरों से कई मकान ध्वस्त हो गए। द्वीपसमूह के मेयर क्लीवलैंड रोलांडो बेवस्टर ने बताया कि हालांकि यहां रहने वाले सभी लोग सुरक्षित हैं। अमेरिका के नेशनल हरिकेन सेंटर ने बताया कि शुक्रवार (25 नवंबर) सुबह तक इस तूफान का केन्द्र अल सल्वाडोर की राजधानी सान सल्वाडोर के दक्षिण-दक्षिणपूर्व में करीब 395 किमी दूर स्थित था, जबकि तूफान की रफ्तार करीब 95 किमी प्रति घंटे थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 26, 2016 5:05 pm

सबरंग