ताज़ा खबर
 

‘मैथ्यू’ तूफ़ान से हैती में 470 लोगों की मौत, बढ़ सकती है मरने वालों की संख्या

साल 1963 में जब चौथी श्रेणी का तूफान हैती में आया था तो उसमें करीब 8,000 लोगों की मौत हुई थी।
Author , जेरेमी | October 9, 2016 00:54 am
तूफान ‘मैथ्यू’ के कारण हैती के जरेमी में क्षतिग्रस्त मकान। (REUTERS/Carlos Garcia Rawlins/6 Oct, 2016)

चक्रवात प्रभावित हैती में हुई तबाही की पूरी तस्वीर शनिवार (8 अक्टूबर) को साफ हुई। चक्रवात से सबसे ज्यादा प्रभावित हुए हैती के दक्षिण-पश्चिमी क्षेत्र के एक जिले में 470 लोगों की मौत हुई है। यह जानकारी एक नागरिक सुरक्षा अधिकारी ने दी। प्रशासनिक अधिकारी अब चक्रवात ‘मैथ्यू’ से प्रभावित इलाकों में धीरे-धीरे पहुंच रहे हैं और राहत कार्य संचालित कर रहे हैं। ग्रैंड-एन्से में सिविल प्रोटेक्शन एजेंसी के समन्वयक फ्रिदनेल केडलर ने एपी को बताया कि चौथी श्रेणी के तूफान की चपेट में आने के तीन दिन बाद भी अधिकारी अब तक इस विभाग के तहत आने वाले दो इलाकों तक पहुंच कायम नहीं कर सके हैं। उन्होंने कहा, ‘मरने वालों की संख्या में बढ़ोत्तरी तय है।’

अधिकारी दक्षिण-पश्चिम प्रायद्वीप के उत्तरी छोर पर स्थित ग्रैंड-एन्से के बारे में खास तौर पर चिंतित हैं जहां मृतकों का आंकड़ा सबसे ज्यादा होने की आशंका है। साल 1963 में जब चौथी श्रेणी का तूफान हैती में आया था तो उसमें करीब 8,000 लोगों की मौत हुई थी। हैती में अब तक मारे गए लोगों की ठीक-ठीक संख्या का पता नहीं चल पाया है। इससे पहले, ‘मैथ्यू’ के अमेरिकी तट की ओर से बढ़ने के साथ ही अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अपने देश के नागरिकों से अपील की कि वे हैती के समर्थन में एकजुट हों। आपदा प्रभावित हैती में करीब 10 लाख लोग सहायता की राह देख रहे हैं।

हैती की राजधानी और देश के सबसे बड़े शहर पोर्ट-औ-प्रिंस पर तो चक्रवात का कुछ खास असर नहीं पड़ा, लेकिन दक्षिणी हिस्सा खासा तबाही का शिकार हुआ है। विमान से ली गई तस्वीरों और वीडियो में दिख रहा है कि घरों को भारी नुकसान पहुंचा है और हर जगह पेड़ टूटकर गिरे हुए हैं। उफनती नदियों से निकल रहे भूरे कीचड़ से जमीन पटी नजर आ रही है। हैती के सीनेटर हर्व फॉरकेंड ने कहा कि बाढ़ और भूस्खलन के कारण कई इलाकों से संपर्क पूरी तरह टूट चुका है। करीब 30,000 की आबादी वाला शहर जेरेमी शुक्रवार (7 अक्टूबर) तक अलग-थलग पड़ा था और इस शहर का संपर्क देश के शेष हिस्से से टूट गया था। हैती में आए विनाशकारी तूफान के कारण इस सप्ताहांत होने वाले राष्ट्रपति चुनाव टाल दिए गए।

22 साल की महिला कारमाइन लुक ने कहा, ‘ऐसा लग रहा था जैसे किसी के पास रिमोट कंट्रोल हो और वह हवा को लगातार ऊंचाई पर ही ले जा रहा हो।’ लुक ने कहा, ‘जब मेरे घर की छत उड़ी तो मैंने अपने बाएं हाथ से किसी तरह दीवार को थामे रखा और दाएं हाथ से मैंने अपने तीन साल के बच्चे को पकड़ कर रखा, जो चीख रहा था।’ खाने के सामान और दवाओं से लदा एक जहाज डेम मैरी इलाके की ओर रवाना हुआ है। गृह मंत्री एनिक जोसेफ ने एएफपी को बताया, ‘हालात ऐसे नहीं हैं कि वहां हेलीकॉप्टर उतारा जा सके। हम प्रभावितों की मदद के लिए जीतोड़ कोशिश कर रहे हैं।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 8, 2016 11:49 pm

  1. No Comments.
सबरंग