ताज़ा खबर
 

हंगरी ने गिरफ्तार किए 10 हजार रिफ्यूजी

यूरोप में शरणार्थी संकट गहराता जा रहा है। हंगरी ने मंगलवार को सर्बिया से सीमा पार कर गैर कानूनी तरीके से प्रवेश करने के कारण दस हजार शरणार्थियों को गिरफ्तार करने के बाद देश में आपातकाल लागू कर दिया।
Author वुडापोस्ट | September 16, 2015 16:56 pm

यूरोप में शरणार्थी संकट गहराता जा रहा है। हंगरी ने मंगलवार को सर्बिया से सीमा पार कर गैर कानूनी तरीके से प्रवेश करने के कारण दस हजार शरणार्थियों को गिरफ्तार करने के बाद देश में आपातकाल लागू कर दिया।

यह जानकारी पुलिस ने दी। उधर, हंगरी के प्रधानमंत्री विक्टर ओरवन ने कहा कि सर्बिया से हंगरी आने वाले शरणार्थियों के यहां शरण देने के आवेदन को अस्वीकार कर दिया जाएगा।

इससे पहले हंगरी ने शरणार्थियों के प्रवेश पर रोक लगाते हुए सर्बिया से लगी अपनी दक्षिणी सीमा सील कर दी है। यही नहीं, सीमा में प्रवेश करने वाले शरणार्थियों को भी निकालने की चेतावनी भी दी है।

देश में आने वाले हजारों शरणार्थियों को देखते हुए रेलवे सेवा भी बंद कर दी गई है। मालूम हो कि हंगरी आने वाले शरणार्थियों की सबसे ज्यादा संख्या सीरियाई नागरिकों की है, जो 2011 से जारी गृहयुद्ध के चलते देश से पलायन कर रहे हैं।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, इस साल सीरिया से काफी ज्यादा तादात में शरणार्थी आए हैं। उन्होंने अपने देश से पैदल ही चलकर यूरोपीय यूनियन में प्रवेश किया। पुलिस ने इस साल हंगरी आने वाले शरणार्थियों की संख्या 1,80,000 दर्ज किया है। लेकिन शरणार्थियों की भीड़ से निपटने के लिए हंगरी ने अक्टूबर से 175 किमी लंबी अपनी दक्षिणी सीमा पर बाड़ लगाने के फैसला लिया। यह बाड़ कंटीले तारों वाला होगा।

तुर्की के पास एजियन समुद्र में शरणार्थियों की एक नौका पलट जाने से 22 शरणार्थियों की मौत हो गई। मरने वालों में 11 महिलाएं और चार बच्चे शामिल हैं। हालांकि, 200 शरणार्थियों को बचा लिया गया। शरणार्थी यूनान के कोस द्वीप पहुंचने का प्रयास कर रहे थे। यह जानकारी तुर्की के तटरक्षकों ने दी है। नौका दतका प्रायद्वीप के पास डूबी। दतका प्रायद्वीप वोदरम कस्बे से दूर नही है जहां सीरियाई आयलन कुर्दी का शव मिला था।

संयुक्तराष्ट्र (यूएन) ने एक लाख 20 हजार शरणार्थियों को शरण देने के प्रश्न पर यूरोपीय संघ के देशों के बीच सहमति नही बन पाने पर निराशा व्यक्त की है। संयुक्तराष्ट्र शरणार्थी उच्चायुक्त ने इस संबंध में कहा है कि शरणार्थी समस्या के हल के लिए बिना किसी विलंब के निर्णायक समझौता किया जाना जरुरी है।

इस वर्ष अब तक चार लाख 64 हजार 876 शरणार्थी भूमध्य सागर पार कर चुके हैं। तुर्की से यूनान आते समय पिछले कुछ दिनों में 72 शरणार्थियों की मौत हो गई।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग