December 03, 2016

ताज़ा खबर

 

हिंदू सेना ने की डोनाल्‍ड ट्रंप की जीत के लिए पूजा, पर भारतीय मूल के पत्रकार फरीद जकारिया ने उन्‍हें बताया लोकतंत्र का कैंसर

मंगलवार को अमेरिका का अगला राष्ट्रपति चुनने के लिए मतदान होगा। भारतीय समय के अनुसार बुधवार दोपहर तक नतीजे साफ हो जाएंगे।

चार नवंबर को इंडिया गेट पर ट्रंप को जीत की बधाई देते हिंदू सेना के कार्यकर्ता। (Photo-REUTERS/Adnan Abidi)

मंगलवार (आठ नवंबर) को अमेरिका का नया राष्ट्रपति चुनने के लिए मतदान होगा है। रिपब्लिकन पार्टी के उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप और डेमोक्रेटिक पार्टी की उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन में से अमेरिका का अगला राष्ट्रपति कौन होगा ये भारतीय समय के अनुसार बुधवार दोपहर तक साफ हो जाएगा। विजयी चाहे जो भी हो ये अमेरिकी चुनाव सांप्रदायिक और सामुदायिक ध्रुवीकरण के लिए भी याद किया जाएगा। डोनाल्ड ट्रंप के अतिवादी बयानों का असर पूरी दुनिया में दिखा। जहां भारत की हिंदू सेना उन्हें इस्लामिक आतंकवाद के खात्मे की एकमात्र उम्मीद मान रही है तो भारतीय मूल के वरिष्ठ अमेरिकी पत्रकार फरीद जकारिया ने रविवार (छह नवंबर) को अपने टीवी शो “जीपीएस” में कहा कि ट्रंप अमेरिकी लोकतंत्र के लिए कैंसर हैं इसलिए वो उन्हें वोट नहीं देंगे।

जकारिया इससे पहले के अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में रिपब्लिकन पार्टी के उम्मीदवारों का खुला समर्थन करते रहे हैं लेकिन वो ट्रंप के सख्त खिलाफ हैं। उन्होंने अपने लेख और टीवी शो “जीपीएस” में बताया कि ट्रंप पिछले रिपब्लिकन उम्मीदवारों से किस तरह अलग हैं। उन्होंने ट्रंप को अकड़ू,  लिजलिजा और अश्लील बताते हुए कहा कि उनके विचार बेहद खतरनाक हैं। जकारिया के अनुसार ट्रंप का नजरिया हमेशाल से नस्ली भेदभाव वाला रहा है। ट्रंप अमेरिकी उदार लोकतंत्र की बुनियादी भावनाओं से नफरत करते हैं। वो मुसलमानों के अमेरिका में प्रवेश पर रोक लगाने और विपक्षियों को जेल भेजने जैसी बातें करते हैं। जकारिया ने कहा, “डोनाल्ड ट्रंप सामान्य उम्मीदवार नहीं हैं। वो अमेरिकी लोकतंत्र के लिए कैंसर हैं। और इसीलिए अगले मंगलवार को मैं उन्हें वोट नहीं दूंगा।”

वीडियो:  जानिए कैसे चुना जाता है अमेरिका का राष्ट्रपति- 

वहीं हिंदू सेना ने अमेरिकी राष्ट्रपति चुनावों में रिपब्लिकन पार्टी उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप की जीत से पहले ही चार नवंबर को नई दिल्ली में जश्न मनाया। हिंदू सेना ने दिल्ली में जंतर मंतर पर ट्रंप के पोस्टर पर तिलक लगाए और मिठाइयां बांटीं। हिन्दू सेना के कार्यकर्ताओं ने इस मौके पर प्रवासी भारतीयों की ट्रंप के साथ दोस्ती की जय जयकार की और इस्लामिक आतंकवाद पर मुस्लिमों के इमिग्रेशन पर प्रतिबंध लगाने की ट्रंप की घोषणा का समर्थन किया। इससे पहले हिंदू सेना इसी साल मई में ट्रंप की जीत के लिए हवन भी करवा चुकी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 8, 2016 12:13 pm

सबरंग