December 02, 2016

ताज़ा खबर

 

हिलेरी क्लिंटन ने दी एफबीआई की जांच को चुनौती, कहा- ‘ईमेल केस में कोई मामला नहीं बनता’

हिलेरी ने एफबीआई पर आरोप लगाया कि वह चुनाव से महज कुछ दिन पहले ‘किसी भी गड़बड़ी के सबूत के बिना ही’ चुनाव में कूद रही है।

Author केंट (अमेरिका) | November 1, 2016 16:47 pm
अमेरिकी राष्ट्रपति पद के लिए डेमोक्रेटिक पार्टी की उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन। (एपी फाइल फोटो)

डेमोक्रेटिक पार्टी की ओर से राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन ने अपने ईमेल प्रकरण की एफबीआई द्वारा की जा रही नई जांच को प्रबल चुनौती देते हुए कहा कि यहां कोई मामला नहीं बनता है। उन्होंने यह बात ओहायो में एक प्रचार रैली के दौरान कही। हिलेरी की सोमवार (31 अक्टूबर) की टिप्पणी इस विषय पर उनकी ओर से की गई अब तक की सबसे तीखी टिप्पणी थी और उन्होंने अपने प्रचार अभियान के इस फैसले को रेखांकित किया कि वह एफबीआई के निदेशक जेम्स कॉमी के खिलाफ आक्रमकता से लड़ेंगी। शुक्रवार (30 अक्टूबर) को, जब चुनाव में एक हफ्ते से ज्यादा का कुछ वक्त बचा था, तब कॉमी ने कांग्रेस को सूचित किया कि एफबीआई को नई सामग्री मिली है जो निष्क्रिय हो चुकी उसकी जांच से संबंधित है कि क्या विदेश मंत्री रहते हुए हिलेरी के निजी ईमेल सर्वर से गुप्त सूचनाएं भेजी गई थीं?

एफबीआई की योजना ईमेल्स का पुनरीक्षण कर यह देखने की है क्या इनमें गुप्त सूचनाएं हैं? और यदि इनमें गुप्त सूचनाएं हैं, तो क्या उन्हें उचित तरीके से संभाला गया था? न्याय विभाग ने सोमवार (31 अक्टूबर) को कहा कि वह पुनरीक्षण को जल्दी पूरा करने के लिए सभी जरूरी संसाधन लगाएगा। हिलेरी ने एफबीआई पर आरोप लगाया कि वह चुनाव से महज कुछ दिन पहले ‘किसी भी गड़बड़ी के सबूत के बिना ही’ चुनाव में कूद रही है। उन्होंने कहा कि अगर ब्यूरो को लगता है कि इन ईमेलों के तार उनकी सहयोगी हुमा आबिदीन से जुड़े हैं तो उसे ‘हर तरह से इन्हें देखना चाहिए।’ लेकिन हिलेरी ने जोर दिया कि एफबीआई उसी निष्कर्ष पर पहुंचेगी जिस पर वह इस साल के शुरू में गई थी। तब एजेंसी ने हिलेरी और उनके सलाहकारों पर गोपनीय सामग्री के रखरखाव से जुड़े आरोपों को लगाने की सिफारिश से इनकार कर दिया था। हिलेरी ने कहा, ‘मेरे ख्याल से ज्यादातर लोग बहुत पहले ही यह निर्णय कर चुके हैं वे इस सब के बारे में क्या सोचते हैं।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 1, 2016 4:47 pm

सबसे ज्‍यादा पढ़ी गईंं खबरें

सबरंग