ताज़ा खबर
 

पाक में रह रही गीता का विवाहित होने से इंकार

करीब 14 साल पहले भूलवश सीमा पार कर पाकिस्तान आ गई गूंगी बहरी भारतीय लड़की गीता ने विवाहित होने से इंकार किया है..
Author कराची | October 19, 2015 00:23 am
पाकिस्तान में रहने वाली मूक बधिर महिला गीता जल्द ही भारत लौटेगी। गीता एक दशक से भी पहले अनजाने में सीमापार कर गई थी।

करीब 14 साल पहले भूलवश सीमा पार कर पाकिस्तान आ गई गूंगी बहरी भारतीय लड़की गीता ने विवाहित होने से इंकार किया है। भारत में मीडिया में आई कुछ खबरों में कहा गया था कि बिहार के सहरसा जिले में 23 वर्षीय गीता के पैतृक गांव के लोगों का कहना है कि जब वह छोटी थी तब उसका उमेश महतो नामक व्यक्ति से विवाह हो गया था और उनका एक बेटा भी है जो अब 12 साल का हो गया है।

समाज सेवी अब्दुल सत्तार एधी के पुत्र फैजल एधी ने बताया कि इन खबरों के बाद उन्होंने गीता से बात की थी। फैजल ने बताया ‘‘उसने स्काइप के जरिये उन लोगों से बात की जिन्हें उसने भारतीय उच्चायोग द्वारा भेजी गई तस्वीरों में अपने परिवार के तौर पर पहचाना। उन्होंने उसे बताया कि वह विवाहित है और उसने इस बात से इंकार किया कि उसका कभी विवाह हुआ था।’’

उन्होंने कहा ‘‘हमने उसे भारतीय मीडिया में प्रकाशित तस्वीर भी दिखाई जिसके बारे में उनका दावा है कि वह गीता है। लेकिन जब हमने वह तस्वीर उसे दिखाई तो उसने कहा कि वह तस्वीर उसकी नहीं है।’’

फैजल के अनुसार, स्थिति थोड़ी जटिल हो गई है क्योंकि गीता को 26 अक्तूबर को दिल्ली भेजने के इंतजाम किए जा चुके हैं। उन्होंने कहा ‘‘उससे बात कर हम यह पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि कहीं वह हमसे कुछ छिपा तो नहीं रही है या गुमराह तो नहीं कर रही है।’’

गीता ने भारतीय उच्चायोग द्वारा एधी फाउंडेशन को भेजी गई अपने परिवार की तस्वीर पहचान ली जिसके बाद पाकिस्तान और भारत ने गीता को स्वदेश भेजने के लिए तैयारी शुरू कर दीं। बताया जाता है कि गीता उन दिनों 7 या 8 साल की थी जब उसे पाकिस्तानी रेंजरों ने 14 साल पहले लाहौर रेलवे स्टेशन पर समझौता एक्सप्रेस में अकेले बैठे हुए पाया।

पुलिस गीता को लाहौर में एधी फाउंडेशन ले गई और फिर उसे कराची भेज दिया गया। फाउंडेशन की बिलकिस एधी ने उसे गोद ले लिया और कराची में उसके साथ रहने लगीं। फैजल ने बताया ‘‘बिलकिस एधी ने गीता को अपनी बेटी की तरह पाला और उम्मीद है कि वह उसके साथ नई दिल्ली जाएंगी। हम शायद पहले डीएनए टेस्ट कराएंगे ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि तस्वीर में दिखाए गए लोग सचमुच उसके परिवार वाले हैं। इसके बाद ही उसे उनके सुपुर्द किया जाएगा।’’

पाकिस्तान में भारतीय उच्चायुक्त टीसीए राघवन ने कहा, ‘‘योजना यह है कि आगामी 26 अक्तूबर को एदी परिवार के कुछ सदस्यों के साथ गीता भारत जाएगी। हमने एदी परिवार को गीता के साथ चलने तथा उसके साथ कुछ दिन रहने का न्यौता दिया है ताकि उसे भारत में रहने में मदद मिल सके। हम इन लोगों की इस बात के लिये सराहना करते हैं कि इन्होंने हमारे नागरिक को पाकिस्तान में इतने वर्षों तक सहयोग दिया।’’

एक सवाल के जवाब में राघवन ने कहा कि पिछले सप्ताह गीता ने अपने परिवार के कुछ सदस्यों के तस्वीरों की पहचान की। उन्होंने एक भारतीय चैनल से कहा, ‘‘यह अग्रगामी का कदम है। निश्चित तौर पर उसे अपने परिवार को देखे कई वर्ष बीत चुके हैं। इसलिए विस्तृत जांच कराने की जरूरत है तथा परिवार के सदस्यों के बारे स्पष्ट तौर पर कहने से पहले ऐसी योजना है।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग