ताज़ा खबर
 

हमारे यहां है दाऊद इब्राहिम, लेकिन हम इंडिया की मदद क्यों करें- इंटरव्यू में बोले परवेज मुशर्रफ

पाकिस्तान के पूर्व आर्मी चीफ ने कहा कि भारत में और भी दाऊद इब्राहिम पैदा होंगे अगर यहां मुसलमानों पर जुल्म बंद नहीं हुए।
पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज़ मुशर्रफ। (फाइल फोटो)

पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति और तानाशाह परवेज मुशर्रफ ने इशारा किया है कि हो सकता है कि भारत का मोस्ट वांटेड क्रिमिनल दाऊद इब्राहिम पाकिस्तान में ही हो, लेकिन हम भले इंसान बनकर भारत की मदद क्यों करें। परवेज मुशर्रफ ने ये बयान एक पाकिस्तानी टीवी चैनल दुनिया न्यूज को दिये इंटरव्यू में दिया है। अंडर वर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम भारत में 1993 में हुए बम धमाकों का आरोपी है। इस धमाके में लगभग ढाई सौ लोग मारे गये थे। मुशर्रफ ने इंटरव्यू में कहा, ‘भारत सालों से पाकिस्तान पर दोषारोपण करता रहा है, हम लोगों को अब क्यों अच्छा बन जाना चाहिए और उनकी मदद करनी चाहिए।’ मुशर्रफ ने कहा,’ मुझे नहीं पता वो कहां है, उसको यहां होना चाहिए, होगा कहीं, हमें नहीं पता, हम क्यों बताएं।’ इंटरव्यू के दौरान मुशर्रफ के पूरे बॉडी लैंग्वेज से लग रहा था कि जैसे उन्हें दाऊद इब्राहिम का पूरा ठिकाना पता हो लेकिन वो ये जानकारी भारत को देना नहीं चाहते हों। इस इंटरव्यू को आप नीचे देख सकते हैं।

मुशर्रफ ने भारत पर आरोप लगाया और कहा कि भारत में मुसलमानों को मारा जा रहा है और भारत पाकिस्तान से मदद की उम्मीद करता है। परवेज मुशर्रफ ने कहा कि बंबई में धमाके क्यों हुए इस पर बहस करना जरूरी है लेकिन भारत इस पर बात नहीं करता है। पाकिस्तान के पूर्व आर्मी चीफ ने कहा कि भारत में और भी दाऊद इब्राहिम पैदा होंगे अगर यहां मुसलमानों पर जुल्म बंद नहीं हुए। परवेज मुशर्रफ के मुताबिक विदेश नीति में नरेन्द्र मोदी ने नवाज शरीफ के ऊपर लीड ले ली है। मुशर्रफ ने कहा कि अगर वे पाकिस्तान के मुखिया होते तो भारत के पीएम नरेन्द्र मोदी से सख्ती से निपटते। मुशर्रफ के मुताबिक पाकिस्तान को कश्मीर में अलगाववादियों का समर्थन करते रहना चाहिए।

परवेज मुशर्रफ ने पाक के पूर्वपीएम नवाज शरीफ पर हमला किया और कहा कि नवाज शरीफ ने पाकिस्तान के हितों ताक पर रखा और भारत के साथ अपने तिजारती रिश्ते आगे बढ़ाए। मुशर्रफ के मुताबिक दोनों देशों के बीच विवादों को हल करने के लिए रिश्ते बढ़ाए जाने चाहिए ना कि गिफ़्ट देने और शादियों में शामिल होने के लिए। उन्होंने कहा कि उनके शासन काल में सरक्रीक और सियाचीन जैसे मुद्दों का समाधान निकल गया था और ये पूरा ही होने वाला था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग