December 06, 2016

ताज़ा खबर

 

डोनाल्‍ड ट्रंप ने अमेरिकी कंपनियों को दी चेतावनी, भारतीयों की नौकरियों पर मंडराया खतरा

अमेरिका के राष्‍ट्रपति पद पर चुने जा चुके डोनाल्‍ड ट्रंप ने उन कंपनियों को चेतावनी दी है जो अपना कामकाज बाहरी देशों में ले जाने पर विचार कर रही है।

अमेरिका के राष्‍ट्रपति पद पर चुने जा चुके डोनाल्‍ड ट्रंप ने उन कंपनियों को चेतावनी दी है जो अपना कामकाज बाहरी देशों में ले जाने पर विचार कर रही है।

अमेरिका के राष्‍ट्रपति पद पर चुने जा चुके डोनाल्‍ड ट्रंप ने उन कंपनियों को चेतावनी दी है जो अपना कामकाज बाहरी देशों में ले जाने पर विचार कर रही है। ट्रंप ने गुरुवार को चेताया कि ऐसा करने वाली कंपनियों को परिणाम भुगतनें होंगे। उनका यह बयान एसी बनाने वाली कंपनी कैरियर के इंडियानापोलिस राज्‍य में प्‍लांट को बंद करके मैक्सिको ले जाने के फैसले को वापस लेने के बाद आया है। कैरियर के फैसले से 1100 लोगों की नौकरियों पर खतरा हो गया था लेकिन बाद में इंडियाना राज्‍य की ओर से टैक्‍स इंसेंटिव दिए जाने के बाद कंपनी ने फैसला वापस ले लिया था। बताया जाता है कि कॅरियर को 7 मिलियन डॉलर का टैक्‍स इंसेंटिव पैकेज दिया जाएगा।

ट्रंप ने कहा कि उनका प्रशासन कॉर्पोरेट टैक्‍स को कम करेगा इससे कई और कंपनियां भी अमेरिका में ही रहने पर विचार करेंगी। लेकिन उन्‍होंने चेताया कि जो भी कंपनियां अपना कामकाज बाहर लेकर जाएंगी उन्‍हें आयातित सामान पर बॉर्डर टैक्‍स के जरिए कीमत चुकानी होगी। उन्‍होंने कहा, ”कंपनियां बिना परिणाम भुगते अमेरिका छोड़कर नहीं जा पाएंगी। यह नहीं होगा। यह नहीं होने वाला है।” ट्रंप ने कहा कि कैरियर के मामले में उन्‍होंने टीवी पर न्‍यूज देखने के बाद दखल दिया। इस रिपोर्ट से उन्‍हें अपने चुनावी वादे की याद आर्इ। उन्‍होंने कहा, ”हम कैरियर को नहीं जाने दे सकते।”

ट्रंप ने कहा कि वे अन्‍य कंपनियों से भी व्‍यक्तिगत रूप से बात करेंगे। आलोचकों के सवालों पर उन्‍होंने कहा, ”मुझे लगता है कि यह राष्‍ट्रपति का काम है। और यदि ऐसा नहीं है तो भी कोई बात नहीं क्‍योंकि मुझे वास्‍तव में ऐसा करना सही लगता है। लेकिन हमें बहुत सारी कंपनियों को फोन करने होंगे जो देश से बाहर जाने की सोच रही हैं। क्‍योंकि वे यह देश नहीं छोड़ने जा रहे।”

गौरतलब है कि चुनाव प्रचार के दौरान ट्रंप ने दूसरे देशों से काम कराने वाली अमेरिकी कंपनियों पर निशाना साधा था। उनके इस तरह के बयानों पर काफी जनसमर्थन भी मिला था। उन्‍होंने फोर्ड मोटर को मैक्सिकों में फैक्‍ट्री खोलने, एक दवा कंपनी को दूसरे देश में मुख्‍यालय बनाने पर लताड़ा था। साथ ही कहा था कि वे अब ओरेयो कुकीज नहीं खाएंगे क्‍योंकिे इसे बनाने वाली कंपनी नेबिस्‍को ने इसका उत्‍पादन मैक्सिको में शुरू कर दिया है। ट्रंप के निशाने पर चीन और भारत जैसे देश भी रहे थे। उन्‍होंने कहा था कि भारत और चीन अमेरिकी लोगों की नौकरियां छीन रहे है। इनसे मुकाबला करने की जरूरत है।

व्हाइट हाऊस में डोनाल्ड ट्रंप से मिले राष्ट्रपति बराक ओबामा; देखिए वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on December 2, 2016 1:10 pm

सबरंग