ताज़ा खबर
 

ट्रंप-विरोधी मार्च बुलाने वाली भारतीय-अमेरिकी महिला को मिली धमकी, भारत लौटने को कहा

क्षमा ने अपने समर्थकों से जनवरी में अमेरिका के 45वें राष्ट्रपति बनने जा रहे ट्रंप के खिलाफ सार्वजनिक प्रदर्शन करने का आह्वान किया।
Author वॉशिंगटन | November 18, 2016 18:17 pm
भारतीय मूल की अमेरिकी महिला क्षमा सावंत। (फोटो सौजन्य ट्विटर)

अमेरिका में नवनिर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ देशव्यापाी विरोध प्रदर्शन का आह्वान करने वाली भारतीय मूल की अमेरिकी महिला को गुस्से से भरे सैंकड़ों ईमेल और फोन कॉल आई हैं। इनमें से कुछ में इस महिला के खिलाफ अपशब्दों का प्रयोग करते हुए उन्हें ‘भारत लौट जाने’ के लिए कहा गया है। सीएटल काउंसिल की सदस्य क्षमा सावंत उन कुछ समाजवादी अधिकारियों में शामिल हैं, जिन्हें ‘विद्वेष से भरी धमकियां और नस्ली टिप्पणियां’ मिल रही हैं। उन्हें मिलने वाली इन धमकियों का सिलसिला तब शुरू हुआ, जब उन्होंने अपने समर्थकों से जनवरी में अमेरिका के 45वें राष्ट्रपति बनने जा रहे ट्रंप के खिलाफ सार्वजनिक प्रदर्शन करने का आह्वान किया।

क्षमा ने नौ नवंबर को सीएटल सिटी हॉल में चुनाव के बाद आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा था, ‘मैं आपसे अपील करती हूं कि मेरे साथ आइए। एक बड़ा विरोध प्रदर्शन कीजिए और अमेरिका को बताइए कि हम नस्ली एजेंडे को स्वीकार नहीं करते। यह सुनिश्चित कीजिए कि ‘इनॉग्रेशन डे’ (पदभार संभालने का दिन) के मौके पर 20 और 21 जनवरी को राष्ट्रव्यापी बंद आयोजित करें और शपथग्रहण समारोह पर कब्जा करें।’

उनके संवाददाता सम्मेलन की वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गई थी। इसका नतीजा यह हुआ कि उनके दफ्तर में धमकी भरे संदेश आने लगे। काउंसिल की प्रवक्ता डाना रॉबिन्सन स्लोट ने ईमेल के जरिए क्यू13 न्यूज को बताया कि क्षमा के दफ्तर के एक कर्मचारी को फोन पर कहा गया था, ‘मैं आऊंगा और तुम्हारे माथे पर एवं उस के (अपशब्द के साथ) माथे पर स्वास्तिक का टैटू बना दूंगा।’ एक अन्य ईमेल में कहा गया, ‘भारत वापस जाओ, तुम (अपशब्द के साथ)।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. S
    Sidheswar Misra
    Nov 19, 2016 at 4:29 am
    राष्ट्रभक्त विरोध बर्दाश नहीं करते है। इनका लोकतंत्र यही है।
    Reply
सबरंग