December 09, 2016

ताज़ा खबर

 

‘सीरिया-आईएस लिंक पर ‘झूठ’ फैला रहे हैं डोनाल्ड ट्रम्प’

संराष्ट्र जांचकर्ता ने कहा, 'इस बात के कोई साक्ष्य नहीं हैं कि आतंकवादी समूहों ने आतंकवादी गतिविधियों को अंजाम देने के लिए शरणार्थियों के पलायन का फायदा उठाया।'

Author संयुक्त राष्ट्र | October 22, 2016 15:52 pm
अमेरिका में राष्ट्रपति पद के लिए रिपब्लिकन उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप। (रॉयटर्स फाइल फोटो)

आतंकवाद और मानवाधिकारों पर संयुक्त राष्ट्र के विशेष जांचकर्ता ने राष्ट्रपति पद के रिपब्लिकन उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रम्प पर आरोप लगाया है कि वह सीरियाई शरणार्थियों और इस्लामिक स्टेट चरमपंथियों के बीच संबंध का दावा कर ‘झूठ फैला रहे हैं और विदेशी लोगों के प्रति डर पैदा कर रहे हैं।’ ब्रितानी मानवाधिकार वकील बेन एमरसन ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘इस बात के कोई साक्ष्य नहीं हैं कि आतंकवादी समूहों ने आतंकवादी गतिविधियों को अंजाम देने के लिए शरणार्थियों के पलायन का फायदा उठाया या इस तरह के शरणार्थी अन्य की तुलना में अधिक कट्टरपंथी हैं।’

उन्होंने कहा, ‘बिना किसी अपवाद के यह बात लगभग कही जा सकती है कि शरणार्थियों और अप्रवासियों से आतंकवाद का खतरा नहीं है।’ उन्होंने कहा, ‘बल्कि आतंकवादियों की अधिक सक्रियता वाले इलाकों में रह रहे ऐसे लोगों पर तो वहां से पलायन करने का खतरा मंडरा रहा है और बुधवार को ट्रम्प ने जो गैर जिम्मेदार बयान दिया उससे पूर्वाग्रह और लांछन के सिवा कुछ नहीं होगा।’ उन्होंने कहा कि ट्रम्प की यह टिप्पणी इस बात का स्पष्ट उदाहरण है कि वह सिर्फ झूठ फैलाने और विदेशी लोगों के प्रति डर पैदा करने में शामिल हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 22, 2016 3:52 pm

सबरंग