December 06, 2016

ताज़ा खबर

 

हिलेरी ने जनता से अपने आपराधिक काम को छिपाने के अवैध सर्वर इस्तेमाल किया- डोनाल्ड

ट्रंप ने आरोप लगाया कि कांग्रेस की ओर से सम्मन जारी होने के बाद अपने ‘अपराधों’ को छिपाने के लिए हिलेरी ने 33,000 इमेलों का सफाया कर दिया।

Author वॉशिंगटन | October 31, 2016 14:39 pm
राष्ट्रपति पद के रिपब्लिकन उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप।(REUTERS/Eric Thayer/File)

हिलेरी क्लिंटन का ईमेल विवाद गहराता जा रहा है, इस बीच डोनाल्ड ट्रंप ने आरोप लगाया है कि पूर्व विदेश मंत्री ने अपनी ‘आपराधिक गतिविधियों’ को जनता की नजरों से छिपाने के उद्देश्य से ‘अवैध सर्वर’ लगवाया था और यह गतिविधि ‘सोच समझकर, जान बूझकर और सउद्देश्य’ की गई थी। अमेरिकी राष्ट्रपति पद के रिपब्लिकन उम्मीदवार ट्रंप ने नेवादा के लास वेगास में कहा, ‘जैसा कि आपने सुना है, शुक्रवार (28 अक्टूबर) को ही घोषणा की गई है कि एफबीआई हिलेरी की अवैध और आपराधिक गतिविधियों की जांच फिर से शुरू कर रही है। हिलेरी ने अपने लिए कानूनी समस्याएं खुद पैदा की हैं।’ उन्होंने कहा, ‘इस आपराधिक गतिविधि को उन्होंने जानबूझकर, सोच समझकर और सउद्देश्य अंजाम दिया। हिलेरी ने जनता से अपने आपराधिक काम को छिपाने के स्पष्ट उद्देश्य से अवैध सर्वर को स्थापित किया। इस अवैध सर्वर को उन्होंने यह अच्छी तरह जानते समझते हुए स्थापित किया कि उनके इस काम से राष्ट्रीय सुरक्षा जोखिम में पड़ सकती है और आप लोगों के बच्चों की सुरक्षा भी खतरे में पड़ सकती है।’

ट्रंप ने आरोप लगाया कि कांग्रेस की ओर से सम्मन जारी होने के बाद अपने ‘अपराधों’ को छिपाने के लिए हिलेरी ने 33,000 इमेलों का सफाया कर दिया। ट्रंप ने उन रिपोर्टों का हवाला दिया जिनमें कहा गया है कि एफबीआई को एक लैपटॉप से 6,50,000 मेल मिली हैं जो हिलेरी की करीबी हुमा अबेदीन और उनके अलग हो चुके पति एंथनी वीनर ने उपलब्ध करवाई हैं। ट्रंप ने कहा, ‘हमने कभी नहीं सोचा था कि हम एंथनी वीनर का शुक्रिया अदा करेंगे। उन्होंने (हिलेरी ने) 13 फोन गायब कर दिए, शपथ लेने के बावजूद कांग्रेस से झूठ बोला, एफबीआई से कई बार झूठ बोला और फिर ईमेल सबूतों से भरे दो बॉक्स रहस्यमयी ढंग से गायब हो गए। इसके अलावा विकीलिक्स ने भी हमारी सरकार में उच्चतम स्तर के आपराधिक भ्रष्टाचार की पोल खोली।’ ट्रंप ने कहा, ‘हिलेरी तो विदेश मंत्रालय को बेचने पर उतर आईं, मौका मिलता तो वे ओवल ऑफिस को भी बेच डालती। इसमें कोई शक नहीं है। अब तो यह सामने आ चुका है कि न्याय विभाग एफबीआई से लड़ रहा है। न्याय विभाग हिलेरी क्लिंटन को बचाने के लिए एड़ी चोटी का जोर लगा रहा है।’

उन्होंने सवाल उठाया, ‘‘उन्होंने हमारे जनरलों को बचाने की कोशिश नहीं की, उन्होंने कई सारे अन्य लोगों को बचाने की कोशिश नहीं की। इस मामले में अटॉर्नी जनरल कैसे शामिल हो सकती हैं। वे एफबीआई को कुछ भी करने का निर्देश कैसे दे सकती हैं? खासतौर से तब जब उन्होंने जांच के संभावित लक्ष्य (अबेदीन) के पति और खुद संभावित लक्ष्य बिल क्लिंटन से एरिजोना में विमान में गोपनीय मुलाकात की।’ ट्रंप ने कहा कि इस आपत्तिजनक मुलाकात के कारण अटॉर्नी जनरल ने खुद को मामले से अलग कर लिया और फैसले लेने का प्रभार एफबीआई निदेशक जेम्स कॉमे को दिया। ट्रंप ने कहा, ‘इसीलिए हम कहते हैं कि सिस्टम भ्रष्ट है। जब ताकतवर लोग कुछ भी करके बच निकलते हैं सिर्फ इसलिए क्योंकि उनके पास पैसा है और उनके संबंध हैं तो सिस्टम भ्रष्ट हो जाता है और देश के भविष्य पर से लोगों की उम्मीद टूट जाती है और भरोसा उठ जाता है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 31, 2016 2:36 pm

सबरंग