ताज़ा खबर
 

नाटो को अब बेकार नहीं मानते हैं डोनाल्ड ट्रंप

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने उत्तर अटलांटिक संधि संगठन (नाटो) को पूर्ण समर्थन देते हुए गठबंधन के प्रति वाशिंगटन की प्रतिबद्धता की पुन: पुष्टि की और कहा कि अब वह नहीं मानते कि यह 'बेकार' है।
Author वाशिंगटन | April 13, 2017 23:55 pm
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने उत्तर अटलांटिक संधि संगठन (नाटो) को पूर्ण समर्थन देते हुए गठबंधन के प्रति वाशिंगटन की प्रतिबद्धता की पुन: पुष्टि की और कहा कि अब वह नहीं मानते कि यह ‘बेकार’ है। चुनाव प्रचार के दौरान ट्रंप ने नाटो की प्रासंगिकता को सवालों के घेरे में खड़ा किया था। वाशिंगटन पोस्ट की रिपोर्ट के मुताबिक, नाटो के महासचिव जेंस स्टोल्टेनबर्ग के साथ बुधवार को एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन के दौरान ट्रंप ने कहा कि नाटो की आलोचना का उद्देश्य गठबंधन को खुद में बदलाव करने के लिए प्रेरित करना था, ताकि उसे लेकर उनकी चिंताओं का समाधान हो सके।  हालांकि, उन्होंने यह नहीं बताया कि उनकी चिंताएं क्या थीं। उन्होंने कहा, “मैंने काफी वक्त पहले शिकायत की थी और उन्होंने बदलाव किया और अब वे आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई लड़ेंगे। मैंने कहा था कि यह बेकार हो चुका है। लेकिन, अब यह बेकार नहीं है।”

एक साल तक ट्रंप कहते रहे थे कि नाटो बेकार हो चुका है और इस पर अमेरिका का काफी धन खर्च हो रहा है। उन्होंने इसकी जगह एक वैकल्पिक संगठन लाने का सुझाव दिया था, जो आतंकवाद-रोधी हो। उन्होंने नाटो के लिए बार-बार ‘बेकार’ शब्द का इस्तेमाल किया था। ट्रंप अपने इस रुख पर लगातार कायम रहे और जनवरी में लंदन के द टाइम्स तथा जर्मनी के अखबार बिल्ड से साक्षात्कार में कहा था, “नाटो बेकार हो चुका है, क्योंकि यह आतंकवाद पर ध्यान नहीं दे रहा है। जवाब में स्टोल्टेनबर्गन ने राष्ट्रपति को सही बताया, लेकिन उन्होंने बदलाव को दूसरे अर्थो में परिभाषित किया जिसमें उनका जोर आतंकवाद से निपटने के लिए नाटो में होने वाले बदलाव पर था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग