December 08, 2016

ताज़ा खबर

 

ओबामा के हेल्थ कानून ‘ओबामाकेयर’ में बदलाव कर सकते हैं डोनाल्ड ट्रंप!

ट्रंप आईएसआईएस को हराने के अलावा बुनियादी सुविधाओं में बड़े स्तर पर निवेश और बेहतर अंतरराष्ट्रीय व्यापारिक सौदों के जरिए नौकरियां वापस लाने के अपने वादों को लेकर भी प्रतिबद्ध प्रतीत हुए।

Author वॉशिंगटन | November 12, 2016 14:17 pm
व्हाइट हाउस में हुई डोनाल्ड ट्रंप और बराक ओबामा की मुलाकात। (Photo: REUTERS/File)

डोनाल्ड ट्रंप ने स्वास्थ्य देखभाल से जुड़े अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा के प्रमुख कानून को रद्द करने की अपनी प्रचार मुहिम के बड़े वादे को लेकर अपने रुख में उल्लेखनीय बदलाव करते हुए संकेत दिया है कि वह ‘अफोर्डेबल केयर एक्ट’ के ‘संशोधित’ संस्करण को बनाए रखने पर विचार करेंगे। ‘वॉल स्ट्रीट जर्नल’ के अनुसार नवनिर्वाचित राष्ट्रपति ने इस सप्ताह व्हाहट हाउस में ओबामा के साथ अपनी बैठक के बाद स्पष्ट रूप से यू टर्न लिया है। ट्रंप ने समाचार पत्र के साथ एक साक्षात्कार में कहा कि उनकी प्राथमिकता ओबामाकेयर को लेकर ‘तेजी’ से कदम उठाना है जो ‘महंगा और अव्यवहार्य’ बन गया है। समाचार पत्र ने कहा कि लेकिन उन्होंने गुरुवार (10 नवंबर) में व्हाइट हाउस में ओबामा के साथ बैठक के दौरान इस कानून को रद्द किए जाने पर फिर से विचार करने के निवर्तमान राष्ट्रपति के सुझाव के बाद इसके ‘कम से कम दो प्रावधानों को संरक्षित रखने की इच्छा व्यक्त की है।’ ट्रंप ने कहा, ‘ओबामाकेयर में या तो संशोधन किया जाएगा या उसे रद्द किया जाएगा या बदला जाएगा। मैंने उनसे कहा कि मैं उनके सुझावों पर विचार करूंगा और सम्मान के तहत मैं ऐसा करूंगा।’

जर्नल के अनुसार ट्रंप ने कहा कि वह ओबामाकेयर के उस अहम हिस्से को बनाए रखने के समर्थन में हैं जो बीमा कंपनियों को स्वास्थ्य संबंधी मौजूदा समस्याओं वाले लोगों को कवर करने से इनकार करने से रोकता है। इसके अलावा ट्रंप उस प्रावधान के भी समर्थक हैं जो अभिभावकों को उनकी बीमा नीतियों पर बच्चों के लिए अतिरिक्त कवरेज के वर्ष मुहैया कराता है। ‘मुझे ये बहुत पसंद हैं।’ ट्रंप आईएसआईएस को हराने के अलावा बुनियादी सुविधाओं में बड़े स्तर पर निवेश और बेहतर अंतरराष्ट्रीय व्यापारिक सौदों के जरिए नौकरियां वापस लाने के अपने वादों को लेकर भी प्रतिबद्ध प्रतीत हुए। हिलेरी क्लिंटन को हराकर आठ नवंबर को राष्ट्रपति पद का चुनाव जीतने के बाद अपने पहले साक्षात्कार में कहा, ‘मैं ऐसा देश चाहता हूं जहां सब एक दूसरे से प्रेम करें। मैं इस पर जोर देना चाहता हूं।’ ट्रंप ने अब तक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत विश्व के कई नेताओं से बात की है। अभी उन्हें चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से बात करनी है। ट्रंप ने कहा कि उन्हें पुतिन की ओर से एक ‘सुंदर’ पत्र मिला है। उन्होंने सीरिया के बारे में कहा कि उनका मुख्य ध्यान मौजूदा राष्ट्रपति बशर अल असद को हटाने के बजाए आईएसआईएस को हराने पर होगा। ट्रंप ने इस्राइल-फलस्तीन संघर्ष पर कहा कि वे समझौता होने की उम्मीद करते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 12, 2016 2:17 pm

सबरंग