ताज़ा खबर
 

चीनी राजनयिक की धमकी- भारत को सही रास्‍ते पर लाने के ल‍िए हम कुछ भी कर सकते हैं

चीन ने भारत के इस प्रस्ताव को भी ठुकरा दिया कि इलाके से दोनों देशों की अपनी सेना वापस बुला लेनी चाहिए।
चीन, भूटान व भारत की सीमा डोकलाम में मिलती है।

भारत के साथ जारी डोकलाम विवाद पर सैन्य कार्रवाई की धमकी देने वाला चीन अभी भी अपने बयान पर कायम है। चीन ने भारत के इस प्रस्ताव को भी ठुकरा दिया कि इलाके से दोनों देशों की अपनी सेना वापस बुला लेनी चाहिए। मंगलवार को एक चीनी राजनयिक ने धमकी देते हुए कहा है कि भारत को सही रास्ते पर लाने के लिए हम कुछ भी कर सकते हैं। सीमा और समुद्री मामलों के विभाग में तैनात चीन की राजनयिक वॉन्ग वेन्ली ने कहा, “अगर भारत लगातार गलत रास्ते पर चलता रहा तो अंतरराष्ट्रीय कानून के मुताबिक हमारे पास किसी भी तरह की कार्रवाई करने का अधिकार है।”

वेन्ली बोलीं, “नई दिल्ली को यह संकेत देने बंद करने चाहिए कि सब कुछ नियंत्रण में है।” चीनी राजनयिक ने संकेत दिए कि इस मुद्दे को शांति से सुलझाने का समय बीतता जा रहा है और भारत को ही डोकलाम से अपने सैनिक वापस बुलाने चाहिए। उन्होंने बताया कि डोकलाम के मुद्दे पर चीन अन्य मौकों के मुकाबले ज्यादा अलग और गंभीर सोच रखता है। डोकलाम के मुद्दे पर 2 अगस्त को चीन द्वारा जारी किए गए 15 पन्नों के बयान का जिक्र करते हुए राजनयिक ने कहा कि इससे पहले डेमोकोक और चुमार जैसे मुद्दों पर कभी चीन ने लिखित बयान जारी नहीं किया था।

2 अगस्त के बयान में क्या बोला था चीन:
चीन इस क्षेत्र को अपना मानता है जबकि भारत और भूटान इस क्षेत्र को भूटान का हिस्सा मानते हैं। चीन ने डोकलाम क्षेत्र में ‘घुसपैठ’ आरोप लगाते हुए भारत पर निशाना साधा था। बयान में भारत-चीन-भूटान ट्राई जंक्शन डोकलाम से “तत्काल” और “बिना शर्त वापसी” की मांगी की गई थी। चीन ने भारत पर भूटान को एक बहाने की तरह इस्तेमाल करने का आरोप लगाया था। चीन ने कहा था, “चाइना-भूटान सीमा विवाद, चीन और भूटान के बीच है। इसका भारत से कोई लेना देना नहीं है। तीसरे पक्ष के तौर रूप में भारत को इस मामले में हस्तक्षेप करने का हक नहीं है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. B
    bitterhoney
    Aug 9, 2017 at 6:34 am
    जंग के लिए भारत भी तैयार है. भारत पीछे हटने वाला नहीं है. चीन की भलाई इसी में है कि वह अपनी सेना तुरंत पीछे हटाए वरना भारतीय सैनिक चीन की सीमा में घुस कर सर्जिकल स्ट्राइक करना भी जानते हैं.
    (0)(0)
    Reply
    सबरंग