ताज़ा खबर
 

ढाका हमला: बांग्लादेश गृह मंत्री बोले- पांच मृत संदिग्धों की पहचान आतंकवादियों के रूप में हुई

इस्लामिक स्टेट ने 12 घंटे तक चले इस बंधक प्रकरण में 20 बंधकों और दो पुलिस अधिकारियों की हत्या की जिम्मेदारी ली है।
Author ढाका | July 6, 2016 02:45 am
बांग्लादेश के सैनिक और सुरक्षाकर्मी आतंकी हमले की जगह पर मुस्तैद। (AP/PTI Photo)

बांग्लादेश ने बीते दिनों देश में हुए अब तक के सबसे घातक आतंकी हमले के मुख्य षड्यंत्रकर्ता का पता लगाने के लिए आतंकवाद-रोधी कानून के तहत कई लोगों के खिलाफ आरोप तय किए हैं और पांचवें हमलावर की भी पहचान कर ली है। आईएसआईएस द्वारा किए गए इस हमले में 22 लोग मारे गए थे। गृहमंत्री असदुजमा खान ने अपने कार्यालय में संवाददाताओं से कहा, ‘शुरुआत में छह शवों को आतंकवादी माना गया था, लेकिन बाद में पांच की पहचान उनके अभिभावकों ने कर ली, साक्ष्य बताते हैं कि वे आतंकवादी थे।’

उन्होंने कहा, ‘मारे गए सभी आतंकवादी बांग्लादेशी हैं और देश में पनपे चरमपंथी संगठनों से ताल्लुक रखते हैं।’ इस्लामिक स्टेट ने 12 घंटे तक चले इस बंधक प्रकरण में 20 बंधकों और दो पुलिस अधिकारियों की हत्या की जिम्मेदारी ली है। यह बंधक प्रकरण सेना द्वारा होले आर्टिजन बेकरी पर धावा बोले जाने के बाद खत्म हुआ। यह बेकरी यहां राजनयिक क्षेत्र में एक लोकप्रिय स्थान है। सेना ने धावा बोलकर छह हमलावरों को मार गिराया था और एक को जिंदा पकड़ लिया था। मारे गए बंधकों में भारतीय लड़की तारिषी जैन (19), नौ इतालवी, सात जापानी, बांग्लादेशी मूल का एक अमेरिकी और दो बांग्लादेशी नागरिक शामिल थे।

गृहमंत्री खान ने घटनाक्रम में मारे गए छठे संदिग्ध की पहचान बताने से इनकार कर दिया। बेकरी के कर्मचारियों और रिश्तेदारों का दावा है कि मारे गए छह ‘आतंकवादियों’ में से एक कैफे का रसोइया सैफुल इस्लाम चौकीदार है। उन्होंने सैन्य अभियान के बाद जीवित पकड़े गए आतंकवादी की पहचान जाहिर करने संबंधी प्रश्नों का भी जवाब नहीं दिया। इसबीच पुलिस का कहना है कि वे जांच कर रहे हैं कि कहीं सुरक्षा बलों ने तो अभियान के दौरान गलती से कैफे के रसोइए की हत्या तो नहीं कर दी।

पुलिस अधिकारी का कहना है, ‘हमें लगता है कि उसे गलती से मार गिराया गया। हम जांच कर रहे हैं।’ जांचकर्ताओं ने मंगलवार (5 जुलाई) दिन में कहा था कि उन्होंने छह हमलावरों में से पांचवे की पहचान कर ली है। पुलिस ने शनिवार (2 जुलाई) रात को पांच आतंकियों की तस्वीरें जारी करके उनकी पहचान ‘आकाश’, ‘बिकाश’, ‘डॉन’, ‘बंधन’ और ‘रिपोन’ के रूप में की। लेकिन इस्लामिक स्टेट ने हमले के कुछ घंटे बाद पांच बंदूकधारियों की तस्वीरें जारी करके उन्हें अबु उमैर, अबु सलमा, अबु रहीक, अबु मुस्लिम और अबु मुहारिब बताया।

नामों में अंतर के बारे में, पुलिस प्रमुख ने आतंकियों में दूसरे नाम रखने के चलन का उल्लेख किया। तीन बंदूकधारी संपन्न परिवारों से थे और उनकी पढ़ाई ढाका के अंग्रेजी माध्यम के शीर्ष स्कूलों से हुई थी। हालांकि पुलिस की ओर से जारी पांच तस्वीरों में दिख रहे एक व्यक्ति की पहचान होले आर्टिजन बेकरी के शेफ सैफुल इस्लाम चौकीदर के रूप में की गई है। कुछ बंधकों से पुलिस पूछताछ कर रही है ताकि हमले की जड़ तक पहुंचने के लिए उपयोगी जानकारी जुटाई जा सके।

इतालवी विदेश मंत्रालय ने यात्रा परामर्श में कहा कि वह बांग्लादेश में और हमलों की आशंका को खारिज नहीं कर सकता। मंत्रालय ने लोगों से बांग्लादेश की यात्रा के दौरान ‘अत्यधिक सावधानी’ बरतने के लिए कहा है। सोमवार (4 जुलाई) शाम को पीड़ितों के लिए प्रार्थना सभा आयोजित की गई। हमले में मारे गए सात जापानी नागरिकों के शव मंगलवार (5 जुलाई) सरकारी विमान के जरिए अपने देश पहुंच गए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.