ताज़ा खबर
 

दक्षिण चीन सागर में बिना सोचे समझे सेना का इस्तेमाल नहीं करेगा चीन

चीन ने दक्षिण चीन सागर के विवादित क्षेत्रों पर अपने दावे और निर्माण गतिविधियों के बीच कहा है कि वह इस क्षेत्र में कभी भी बिना सोचे समझे सेना का इस्तेमाल नहीं करेगा।
Author बीजिंग | October 17, 2015 16:09 pm
(Pic-Agency)

चीन ने दक्षिण चीन सागर के विवादित क्षेत्रों पर अपने दावे और  निर्माण गतिविधियों के बीच कहा है कि वह इस क्षेत्र में कभी भी बिना सोचे समझे सेना का इस्तेमाल नहीं करेगा।

चीन की सेना के वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि दक्षिण चीन सागर में चीन की निर्माण गतिविधियों से अन्य देशों की नौवहन की स्वतंत्रता प्रभावित नहीं होगी और चीन इस क्षेत्र में कभी भी बिना सोचे समझे सेना का इस्तेमाल नहीं करेगा।

विवदित क्षेत्र में चीन ने पिछले वर्ष कृत्रिम द्वीपों का निर्माण किया जिससे दक्षिण-पूर्व एशियाई देशों खास कर फिलीपींस तथा वियतनाम से उसके रिश्तों में कड़वाहट आयी है।

इस क्षेत्र से हर वर्ष पांच ट्रिलियन डॉलर का कारोबार होता है। चीन का दावा है कि कृत्रिम द्वीप का इस्तेमाल नागरिक उपयोगों के लिए होगा लेकिन इस मुद्दे पर अमेरिका ने भी चीन की आलोचना की है।

चीन की सेना के वरिष्ठ अधिकारी जनरल फैन चांगलोंग ने आज दक्षिण-पूर्व एशियाई देशों के रक्षा मंत्रियों के एक कार्यक्रम में कहा कि दक्षिण चीन सागर में चीन की निर्माण गतिविधियों से किसी भी देश की नौवहन स्वतंत्रता पर असर नहीं पड़ेगा।

उन्होंने कहा कि स्प्रैटली द्वीपसमूह में क्यूरटीरोन रीफ और जॉनसन दक्षिण रीफ पर हाल ही हमने लाइट हाउस बनाया है जिससे सभी देशों को नौवहन सेवाएं प्रदान की जा रही है।

जरनल फैन राष्ट्रपति शी जिनपिंग की अध्यक्षता वाले सेन्ट्रल मिलिट्री कमिशन के सह अध्यक्ष है और चीन की सशस्त्र सेना का नेतृत्व करते है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग