ताज़ा खबर
 

जेल में बंद कार्यकर्ता को चीन नहीं करेगा रिहा, संरा की मांग को बताया ‘संप्रभुता में दखल’

चीन ने जेल में बंद चीनी कार्यकर्ता की रिहाई की मांग का कड़ा विरोध किया है और कहा है कि यह उसके घरेलू मामलों और न्यायिक संप्रभुता में ‘पूरी तरह से दखल देना है।’
Author बीजिंग | August 11, 2016 15:03 pm
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है। (चीन का राष्ट्रीय ध्वज)

चीन ने गुरुवार (11 अगस्त) को संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार विशेषज्ञों की जेल में बंद चीनी कार्यकर्ता की रिहाई की मांग का कड़ा विरोध किया है और कहा है कि यह उसके घरेलू मामलों और न्यायिक संप्रभुता में ‘पूरी तरह से दखल देना है।’ सरकार समाचार एजेंसी शिन्हुआ के मुताबिक संरा के मानवाधिकार विशेषज्ञों ने मानवाधिकारों के लिए काम करने वाले जेल में बंद कार्यकर्ता यांग माओदोंग की भूख हड़ताल के कारण बिगड़ती हालत को लेकर चिंता जताई थी। उन्होंने चीनी अधिकारियों से माओदांग को रिहा करने का अनुरोध किया था। विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने एक वक्तव्य में कहा, ‘चीन के घरेलू मामलों और न्यायिक संप्रभुता में यह साफतौर पर दखल देना है और चीन इसका कड़ा विरोध करता है।’

उन्होंने कहा कि संरा के मानवाधिकार कार्यकर्ताओं ने गलत जानकारी के आधार पर गैरजिम्मेदाराना टिप्पणियां की हैं। चीन ने संरा विशेषज्ञों को निष्पक्ष रहकर काम करने और सभी देशों के साथ रचनात्मक चर्चा करने की सलाह दी। हुआ ने कहा, ‘संबद्ध विभागों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक यांग की सेहत सामान्य है और उसके जायज अधिकारों का ध्यान रखा जा रहा है।’ मानवाधिकारों के लिए आवाज उठाने वाले कार्यकर्ताओं के खिलाफ कार्रवाई के दौरान दक्षिण चीन की एक अदालत ने बीते नवंबर में यांग को छह साल कैद की सजा सुनाई थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.