ताज़ा खबर
 

चीनी सेना से निकाले जाएंगे तीन लाख सैनिक, ज्‍यादा मिसाइलें और लड़ाकू विमान किए जाएंगे शामिल

सेना के जवानों में कटौती का फैसला ऐसे समय में आया है जब चीन विकास दर में कमी से जूझ रहा है। इस कटौती की वजह चीन की धीमी आर्थिक रफ्तार को बताया गया।
चीन की सेना पीएलए की एक टुकड़ी। (File Photo:Reuters)

चीन की सेना में तीन लाख सैनिेकों की कटौती की जा रही है। इसके साथ ही सेना के आधुनिकीकरण के लिए बड़े स्‍तर पर बदलावों के तहत सोवियत के जमाने के कमांड मॉड्यूल को बंद किया जाएगा और हार्इटेक हथियारों जैसे स्‍टील्‍थ फाइटर विमान और एंटी सैटेलाइट मिसाइल को ज्‍यादा जगह दी जाएगी। इसी बीच चीनी सेना ने सुरक्षा बलों में बदलावों को लेकर ऑनलाइन पर फैलाए जा रही अफवाहों पर दुश्‍मन तत्‍वों को शुक्रवार को चेतावनी दी। सेना ने माना कि कुछ अफवाहों से नुकसान हुआ है। सेना के जवानों में कटौती का फैसला ऐसे समय में आया है जब चीन विकास दर में कमी से जूझ रहा है। इस कटौती की वजह चीन की धीमी आर्थिक रफ्तार को बताया गया। मंगलवार को पूर्व में हटाए गए हजारों सैनिकों ने बीजिंग में प्रदर्शन किया था।

वीडियो: पाकिस्तान दुनिया का चौथा सबसे असुरक्षित देश; भारत 13वें स्थान पर

पीपल्‍स लिबरेशन आर्मी के अधिकारियों ने बताया कि बदलावों को लेकर चल रही अफवाहों का सोशल मीडिया पर जोर है और तथा‍कथित एक्‍सपर्ट आधारहीन कहानियां फैला रहे हैं। इनमें कहा जा रहा है कि हटाए गए सैनिकों को मिलने वाले फायदों में कमी की जाएगी। इस तरह की कहानियों से कई सैनिकों का ध्‍यान बंटा है। कुछ सैनिक इससे चिंतित है और इससे उनके काम पर भी असर पड़ा है। चीनी सेना के अखबार के अनुसार सैनिक इस तरह की अफवाहों पर ध्‍यान ना दें। वे केवल आधिकारिक सूत्रों से मिली जानकारी पर ही भरोसा करें। हालांकि इस लेख में अफवाह फैलाने वाले तत्‍वों को नाम नहीं बताया गया है। सरकार लगातार कह रही है कि हटाए गए सैनिकों का ध्‍यान रखा जाएगा।

भारत को मिली यह बड़ी कामयाबी, लेकिन बस चीन से रह गया पीछे

राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग ने जून में कहा था कि इन सैनिकों दूसरा काम दिया जाएगा। गौरतलब है कि सेना में कटौती का फैसला पिछले साल सितम्‍बर में लिया गया था। उस समय राष्‍ट्रपति ने कहा था कि सैनिकों की संख्‍या में कमी की जाएगी। चीन के पास दुनिया की सबसे बड़ी सेना है जिसमें 23 लाख जवान है।

चीन ने कहा-NSG पर बात कर सकते हैं, मगर मसूद अजहर के नाम पर भारत को राजनैतिक फायदा नहीं उठाने देंगे

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग