March 29, 2017

ताज़ा खबर

 

मुहर्रम पर पाकिस्तान के 52 शहरों में दो दिन तक मोबाइल सेवा पर रोक

पाकिस्तान ने कानून-व्यवस्था के मद्देनजर देश के कई शहरों में मोबाइल सेवा बाधित करने का फैसला किया है। यह फैसला मुहर्रम जुलूस के कारण लिया गया है।

Author इस्लामाबाद | October 11, 2016 10:25 am
पाकिस्तान में मुहर्रम पर मोबाइल सेवा पर रोक।

पाकिस्तान ने कानून-व्यवस्था के मद्देनजर देश के कई शहरों में मोबाइल सेवा बाधित करने का फैसला किया है। यह फैसला मुहर्रम जुलूस के कारण लिया गया है। जुलूस के दौरान मंगलवार और बुधवार को पाकिस्तान के 52 शहरों में मोबाइल सेवा प्रतिबंधित रहेगी। रिपोर्ट के मुताबिक दोनों दिन मोबाइल सेवा सुबह 8 बजे से लेकर रात 10 बजे तक बाधित रहेगी हालांकि कुछ शहरों में सेवा आंशिक रूप से बाधित रहेगी। डॉन न्यूज ने मुताबिक जिन जगहों में सेवा प्रतिबंधित की गई है, उनमें पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (PoK), गिलगित-बाल्टिस्तान समेत सभी प्रांत की राजधानियां और संघीय राजधानी शामिल है।

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के मुताबिक कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए क्वेटा में कम से कम 7000 पुलिस वालों को मुहर्रम जुलूस के दौरान तैनात किया गया है। एडिशनल आईजी ने बताया कि लाहौर में करीब 20 हजार पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है। वहीं कराची में 10 हजार पुलिस वालों, रेंजर्स और सादे कपड़े में सुरक्षा एजेंसियों के लोगों को तैनात किया गया है ताकि आतंकियों, अपराधियों और असामाजिक तत्वों पर नजर रखी जा सके।

रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान के आंतरिक मंत्री चौधरी निसार अली खान ने मुहर्रम को जुलूस की तैयारियों को लेकर हाई लेवल सिक्योरिटी मीटिंग की। मीटिंग में सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया गया। इस मीटिंग में यह फैसला किया गया है कि आम जनता की असुविधा को देखते हुए कम से कम समय सेल्युलर सेवाओं को बाधित किया जाएगा।

READ ALSO:  भारत ने पाकिस्‍तान से कहा- जरूरत पड़ी तो आतंकियों को ढूंढ़ने के लिए फिर पार करेंगे एलओसी

गौरतलब है कि पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर समेत गिलगित-बाल्टिस्तान में पाकिस्तान सरकार और सेना के खिलाफ लगातार प्रदर्शन होता आ रहा है। बीते दिनों पीओके में लोगों पाकिस्तान विरोधी नारे लगाते हुए प्रदर्शन किया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 11, 2016 10:25 am

  1. No Comments.

सबसे ज्‍यादा पढ़ी गईंं खबरें

सबरंग