December 10, 2016

ताज़ा खबर

 

ब्रिटिश प्रधानमंत्री ने स्वीकारा, ‘ब्रेक्जिट’ की वजह से रातों को नींद नहीं आती

थेरेसा मे ने कहा कि ब्रिटेन के यूरोपीय संघ (ईयू) से अलग होने पर ईयू से बातचीत के कारण वे रातों में देर तक काम करती हैं।

Author लंदन | November 27, 2016 22:01 pm
चीन में आयोजित जी20 शिखर सम्मेलन के दौरान ब्रितानी प्रधानमंत्री टेरेसा मे। (September 4, 2016/ REUTERS/Nicolas Asfonri)

ब्रिटिश प्रधानमंत्री थेरेसा मे ने स्वीकार किया है कि ‘ब्रेक्जिट’ पर ब्रिटेन के लिए ‘सर्वश्रेष्ठ संभावित सौदा’ सुनिश्चित करने की चुनौतियां उन्हें रातों को सोने नहीं देतीं। ‘द संडे टाइम्स’ पत्रिका को दिये साक्षात्कार में उन्होंने कहा कि ब्रिटेन के यूरोपीय संघ (ईयू) से अलग होने पर ईयू से बातचीत के कारण वे रातों में देर तक काम करती हैं। प्रधानमंत्री (60) ने कहा, ‘इस काम में आपको सोने का ज्यादा समय नहीं मिलता।’ थेरेसा 13 जुलाई को प्रधानमंत्री बनी थीं और वे माग्रेट थैचर के बाद ब्रिटेन की केवल दूसरी महिला प्रधानमंत्री हैं। ‘सबसे बड़ी चिंताएं’ और रातों को जागने के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘यह बदलाव का क्षण है। यह बहुत चुनौतीपूर्ण समय है। और हमें ‘ब्रेक्जिट’ के संदर्भ में तैयार होने की जरूरत है। और मैं इसे लेकर बहुत संजीदा हूं।’

उन्होंने कहा, ‘मैं यह करना चाहती हूं कि मैं जो भी करूं वह सुनिश्चित करे कि ब्रिटेन सभी के लिए काम करने वाला देश हो। और बाहर निकलकर ब्रेक्जिट के बाद दुनिया में नयी भूमिका तय करे।’ थेरेसा ने कहा, ‘हम इसे सफल बना सकते हैं, हम इसे सफल बनाएंगे लेकिन ये वास्तव में जटिल मुद्दे हैं। हमें बे्रक्जिट के संदर्भ में तैयार होने की जरूरत है। हम ब्रिटेन के लिए सर्वश्रेष्ठ संभव समझौता करना है।’ अब तक के सबसे व्यक्तिगत साक्षात्कारों में से एक में थेरेसा ने कहा कि उनके पति फिलिप जान मे उन्हें कपड़ों औैर अन्य सामान पर सलाह देते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 27, 2016 10:01 pm

सबरंग