ताज़ा खबर
 

ओलिवर हार्ट और बेंग्ट हॉमस्ट्रॉम को मिला अर्थशास्त्र का नोबेल पुरस्कार

दोनों विद्वानों को परस्पर हितों के टकराव से बचने में अनुंबध से मिलने वाली मदद से जुड़े सिद्धांत के लिए इस पुरस्कार से सम्मानित किया गया है।
ओलिवर हार्ट (बाएं) और बेंट हॉमस्ट्रॉम। (तस्वीर साभार- ट्वीटर)

ब्रिटिश मूल के अर्थशास्त्री ओलिवर हार्ट और फिनलैंड के बेंग्ट हॉमस्ट्रॉम को साल 2016 के लिए अर्थशास्त्र का नोबेल पुरस्कार देने की घोषणा की गई है। दोनों विद्वानों को परस्पर हितों के टकराव से बचने में अनुंबध से मिलने वाली मदद से जुड़ा सिद्धांत देने के लिए इस पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। पुरस्कार देने वाली स्वीडेन की रॉयल अकादमी ने अपने प्रशस्ती पत्र में कहा “वास्तवित जीवन से अनुबंधों और संस्थानों को समझने और साथ ही अनुबंधों को बनाने में होने वाली संभावित चूकों पर किए गया उनका कार्य महत्वपूर्ण है।” मसलन, अनुबंध सिद्धांत (कॉनट्रैक्ट थियरी) से कंपनियों के मुख्य कार्यकारी अधिकारियों के प्रदर्शन आधारित वेतन का विश्लेषण संभव हो सका। अर्थशास्त्र का नोबेल पुरस्कार नोबेल समिति के मूल पुरस्कारों से अलग है। अभी तक इस साल के रसायन विज्ञान, भौतिक विज्ञान, चिकित्सा शास्त्र और शांति क्षेत्र के लिए नोबेल पुरस्कारों की घोषणा की जा चुकी है। 13 अक्टूबर को साहित्य के नोबेल पुरस्कार की घोषणा की जाएगी।

नोबेल पुरस्कार की स्थापना 1896 में वैज्ञानिक अल्फ्रेड नोबेल ने की थी। अर्थशास्त्र का नोबेल पुरस्कार शुरुआती नोबेल पुरस्कारों में शामिल नहीं था। स्वीडेन के सेंट्रल बैंक ने 1968 में इस पुरस्कार की घोषणा की। नोबेल पुरस्कार जीतने वालों को करीब 80 लाख स्वीडिश क्रोनर (करीब छह करोड़ रुपये) पुरस्कार के तौर पर मिलते हैं। सभी पुरस्कार विजेता 10 दिसंबर को अल्फ्रेड नोबेल की पुण्यतिथि पर स्वीडेन में पुरस्कार ग्रहण करते हैं।

वीडियो: दुर्गा पूजा पर अमिताभ बच्चन के परिवार ने की पूजा-

फ्रांस के ज्यां-पियरे सोवेज, ब्रिटेन के जे फ्रैसर स्टाडर्ट और नीदरलैंड के बर्नार्ड फेरिंगा को आणविक मशीनों के विकास के लिए 2016 का रसायन विज्ञान का नोबेल पुरस्कार दिया गया। जापान के योशिनोरी ओहसुमी को ‘ऑटोफेजी’ से संबंधित उनके काम के लिए इस साल का नोबेल चिकित्सा पुरस्कार दिया गया। ऑटोफैजी एक ऐसी प्रक्रिया है, जिसमें कोशिकाएं ‘खुद को नष्ट करती हैं’ और उन्हें बाधित करने पर पार्किंसन एवं मधुमेह जैसी बीमारियां हो सकती हैं।

Read Also: Blog: जब तक होती रहेगी रट्टा मार पढ़ाई तब तक रहेगा भारत में नोबेल का टोटा

ब्रिटिश वैज्ञानिक डेविड थूल्स, डंकन हाल्डेन और माइकल कोस्टरलिट्ज को भौतिक विज्ञान के क्षेत्र में दिए गए योगदान के लिए नोबल प्राइज से सम्मानित किया गया है। स्वीडिश अकादमी ऑफ साइंस के अनुसार डेविड थूल्स, डंकन हाल्डेन और माइकल कोस्टरलिट्ज ने एक ऐसी दुनिया के दरवाजें खोले जहां पर पदार्थ की एक अलग स्टेट टोपोलॉजी के बारे में अध्ययन किया जा सकेगा। कोलंबिया के राष्ट्रपति राष्ट्रपति ह्वान मैनुएल सांतोस को इस साल के नोबेल शांति पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। सांतोस को अपने देश में गृह युद्ध खत्म करने में उनके सराहनीय योगदान के लिए पुरस्कार दिया गया है। इस युद्ध में करीब 220,000 कोलंबियन नागरिकों की जान गई थी और लगभग 60 लाख लोग बेघर हो गए थे।

Read Also: दुनिया की सबसे छोटी मशीनें बनाने वाले तीन वैज्ञानिकों को मिला केमिस्‍ट्री का नोबेल पुरस्‍कार

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 10, 2016 5:00 pm

  1. No Comments.
सबरंग