ताज़ा खबर
 

नरेंद्र मोदी-जिनपिंग की हुई मुलाकात: लखवी मुद्दे पर की बात, जताई चिंता

ब्रिक्स और शंघाई सहयोग संगठन के शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को रूस के शहर उफा में चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से भी मुलाकात की।
Author July 9, 2015 12:07 pm
जिनपिंग से मिले मोदी, मुंबई हमले के आरोपी लखवी पर चीन के रुख को लेकर जताई चिंता (फोटो: भाषा)

ब्रिक्स और शंघाई सहयोग संगठन के शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को रूस के शहर उफा में चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से भी मुलाकात की। उन्होंने बैठक में मुंबई हमले के मास्टरमाइंड जकीउर रहमान लखवी की रिहाई को लेकर पाकिस्तान पर कार्रवाई करने के लिए संयुक्त राष्ट्र में लाए गए प्रस्ताव पर चीन के वीटो पर अपनी चिंता जाहिर की।

विदेश सचिव एस जयशंकर ने बुधवार को दोनों नेताओं के बीच बैठक के बाद प्रेस कान्फ्रेंस में इसकी जानकारी दी। पिछले माह संयुक्त राष्ट्र प्रतिबंध कमेटी की बैठक में भारत ने लखवी की रिहाई का मुद्दा उठाकर पाकिस्तान को घेरा था।

लेकिन चीनी प्रतिनिधि ने यह कहकर प्रस्ताव में अड़ंगा लगा दिया कि भारत ने मामले में पर्याप्त सुबूत मुहैया नहीं कराए हैं। भारत पहले ही कह चुका है कि चीन का यह कदम द्विपक्षीय रिश्तों की प्रगति से अलग दिशा में था।

वहीं मोदी ने कहा कि एक साल में चीन के राष्ट्रपति से पांचवीं बार मुलाकात दोनों देशों के रिश्तों की गहराइयों का पता चलता है। जुलाई में ब्राजील के फोर्टलेजा में जी-20 सम्मेलन में पहली भेंट के बाद दोनों की यह चौथी द्विपक्षीय बैठक है। सितंबर 2014 में जिनपिंग भारत आए थे और इस साल मई में मोदी ने चीन की यात्रा की थी। दोनों नेता आसियान शिखर सम्मेलन के दौरान भी मिले थे।

विदेश सचिव एस जयशंकर के मुताबिक, दोनों नेताओं में ब्रिक्स, शंघाई सहयोग संगठन, विश्वास बहाली के उपायों, सीमा मुद्दे, संयुक्त राष्ट्र में सुधार जैसे विभिन्न मुद्दों पर चर्चा हुई।

हालांकि जकीउर रहमान लखवी के मामले में पाक की घेराबंदी रोकने के प्रयास को चीन द्वारा विफल करने पर कोई बातचीत हुई या नहीं, इसका जिक्र जयशंकर ने नहीं किया। मोदी ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में स्थायी सदस्यता और परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह में भारत की सदस्यता पर भी चर्चा की।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.