ताज़ा खबर
 

‘कोई भी महान शक्ति भारत-पाकिस्तान पर विवाद सुलझाने का दबाव नहीं बना रहीं’

बिलावल ने कहा, ‘निश्चित ही यह क्षेत्रीय नेतृत्व की नाकामी है कि दक्षिण और मध्य एशिया आर्थिक और ऊर्जा के पॉवरहाउस के रूप में विकसित नहीं हो पाया।'
Author वॉशिंगटन | February 1, 2017 18:07 pm
पीपीपी चेयरमैन बिलावल भुट्टो। (फाइल फोटो)

पाकिस्तान में विपक्षी नेता बिलावल भुट्टो जरदारी ने अफसोस जताया कि कोई भी महान शक्ति भारत और पाकिस्तान पर कश्मीर मुद्दा सुलझाने का दबाव नहीं बना रही। उन्होंने नई दिल्ली से कहा कि वह मानवीय उपयोग और अधिकार की वस्तुओं मसलन पानी का इस्तेमाल ‘हथियार’ के रूप में करके उनके देश को धमकाने की कोशिश ना करे। पाकिस्तान पीपल्स पार्टी के नेता जरदारी ने वॉशिंगटन में श्रोताओं से कहा, ‘अपनी रणनीतिक स्थिति को मैं बढ़ाचढ़ा कर नहीं बता रहा लेकिन इसके कारण हम कई संभावित क्षेत्रीय साझेदारियों के केंद्र में हैं। लेकिन हमें जिस कनेक्टिविटी का लाभ मिलना चाहिए उसके बजाए हम इसकी नियति, आपसी दुश्मनी में ही फंसे रह गए।’

उन्होंने कहा, ‘निश्चित ही यह क्षेत्रीय नेतृत्व की नाकामी है कि दक्षिण और मध्य एशिया आर्थिक और ऊर्जा के पॉवरहाउस के रूप में विकसित नहीं हो पाया। अमन के लिए अंतरराष्ट्रीय बिरादरी की जो प्रतिबद्धता है, यह उसकी भी नाकामी है। हम देख सकते हैं कि कोई भी महान शक्ति संयुक्त राष्ट्र की सूची में दर्ज सबसे पुराने विवाद को सुलझाने के लिए भारत और पाकिस्तान पर कोई दबाव नहीं बना रही।’

शीर्ष के अमेरिकी थिंक टैंक यूएस इंस्टीट्यूट ऑफ पीस में अपने संबोधन में जरदारी ने कहा, ‘पानी की सबसे ज्यादा कमी झेल रहे दुनिया के दस देशों में से एक होने के नाते पाकिस्तान साझा संसाधनों को नजरअंदाज करने का जोखिम नहीं उठा सकता। मैं उम्मीद करता हूं कि भारत की वर्तमान सरकार पानी जैसी मानवीय उपयोग और अधिकार की वस्तुओं को हथियार के रूप में इस्तेमाल कर अपनी धमकी नहीं दोहराएगी।’

पाकिस्तान: हाफिद सईद को किया गया नजरबंद, गिरफ्तारी से पहले सईद ने जारी किया वीडियो संदेश

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग