ताज़ा खबर
 

आतंकवादियों के दोस्त हैं PM नवाज शरीफः बिलावल भुट्टो

पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) के प्रमुख बिलावल भुट्टो जरदारी ने भारत के साथ कश्मीर मुद्दे पर कड़ा रुख नहीं अपनाने पर प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की आलोचना करते हुए कहा...
Author कराची | September 14, 2015 11:42 am
Bilawal Bhutto attacks Pak PM Nawaz Sharif, bilawal butto, pak pm sharif, J&K, बिलावल भुट्टो, नवाज शरीफ, कश्मीर मुद्दा

पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) के प्रमुख बिलावल भुट्टो जरदारी ने भारत के साथ कश्मीर मुद्दे पर कड़ा रुख नहीं अपनाने पर प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की आलोचना करते हुए कहा कि उनकी पार्टी ऐसे लोगों से मेल मिलाप नहीं रखेगी जिनमें इस मामले में बोलने की हिम्मत नहीं है।

बिलावल (26) ने शनिवार को पार्टी के कार्यकर्ताओं के सम्मेलन में कहा कि सरकार को कश्मीर पर कड़ा रुख अपनाना चाहिए और उत्पीडन के शिकार कश्मीरियों की आवाज बनना चाहिए। इससे पहले बिलावल ने पिछले साल एक जनसभा के दौरान कहा था कि अगर पीपीपी सत्ता में आती है तो वह भारत से कश्मीर का एक एक इंच वापस लेगी।

उन्होंने कहा था कि मैं कश्मीर वापस लूंगा, पूरा कश्मीर और मैं इसका एक भी इंच नहीं छोड़ूंगा क्योंकि, अन्य प्रांतों की तरह, यह पाकिस्तान का है। उनके बयानों की भारत में कड़ी आलोचना हुई थी। बिलावल ने नियंत्रण रेखा पर भारत के हमलों पर ध्यान नहीं देने के लिए शरीफ नीत पीएमएल एन की आलोचना की।

उन्होंने कहा कि पाकिस्तानी नागरिकों को नियंत्रण रेखा पर मारा जा रहा है और शरीफ बंधु (नवाज और शाहबाज) हमारी अर्थव्यवस्था की रीढ़ की हडडी तोड़ने में व्यस्त हैं। पीपीपी नेता ने शरीफ बंधुओं को आतंकवादियों का दोस्त बताया और आरोप लगाया कि उनकी शासन की शैली अपने रिश्तेदारों और मित्रों की सहायता करना है।

बिलावल ने कहा कि लाहौर पाकिस्तान का दिल है। यह शहर तानाशाही करने वालों और आतंकवादियों के दोस्तों को सौंपा गया है। इन लोगों (शरीफ बंधु) द्वारा पंजाब चलाना यहां के बाशिंदों के लिए सजा के अलावा कुछ नहीं है।

उन्होंने दोनों भाइयों की ऊर्जा संकट, भ्रष्टाचार खत्म करने में नाकामी और किसानों की हालत दयनीय बनाने के लिए आलोचना की। उन्होंने न्याय पालिका से उनके नाना जुल्फिकार अली भुट्टो की न्यायिक हत्या और मां बेनजीर भुट्टों की हत्या के मामले पर गौर करने के लिए कहा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग