ताज़ा खबर
 

सऊदी अरब: पीएम मोदी ने किया TCS का दौरा, स्‍वागत में लगे भारत माता की जय के नारे

प्रधानमंत्री जैसे ही टीसीएस के दफ्तर में दाखिल हुए, वहां मौजूद कर्मचारियों ने मोदी-मोदी और भारत माता की जय के नारे लगाए।
Author रियाद | April 3, 2016 14:37 pm
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सऊदी अरब की राजधानी रियाद में भारतीय सूचना प्रौद्योगिक कंपनी टीसीएस के सूचना प्रौद्योगिकी प्रशिक्षण केंद्र में गए।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सऊदी अरब की राजधानी रियाद में भारतीय सूचना प्रौद्योगिक कंपनी टीसीएस के अपने किस्म के पहले सूचना प्रौद्योगिकी प्रशिक्षण केंद्र में गए। यह केंद्र पूरी तरह महिलाओं के लिए और महिलाओं द्वारा परिचालित है। प्रधानमंत्री ने केंद्र में सऊदी महिला आईटी पेशेवरों से बातचीत की। मोदी ने इस केंद्र में कार्यरत महिला पेशेवरों को भारत आने का न्योता भी दिया।

प्रधानमंत्री जैसे ही टीसीएस के दफ्तर में दाखिल हुए, वहां मौजूद कर्मचारियों ने मोदी-मोदी और भारत माता की जय के नारे लगाए। पीएम मोदी ने टीसीएस की महिला पेशेवरों से बातचीत में कहा, ‘दुनिया के लिए आज यह एक प्रमुख खबर है कि आज मैं रियाद में उन आईटी पेशेवरों से मिल रहा हूं जिनके बारे में मैं कह सकता हूं वे सऊदी अरब के गौरव का प्रतिनिधित्व करती हैं। आप सभी भारत आएं। मैं आपको गर्मजोशी से स्वागत का भरोसा दिलाता हूं। मैं जैसा माहौल यहां देख रहा हूं उससे दुनिया में मजबूत संदेश जाएगा।’ वे केंद्र में करीब 40 मिनट तक रहे और इस दौरान उन्होंने सेल्फी भी खिंचवाई।

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज इस बेहद प्रतिस्पर्धी दुनिया में यदि हमें आगे बढ़ना है, तो सभी ताकतों को एक साथ प्रगति करनी होगी। जब मैं ताकतों की बात करता हूं तो इसमें सिर्फ प्राकृतिक संसाधन नहीं मानव संसाधन भी शामिल है। मानव संसाधान मानव शक्ति महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। पीएम मोदी ने कहा, ‘यदि महिलाओं की क्षमता का निर्माण किया जाए और उन्हें विकास प्रक्रिया से संबद्ध किया जाए, तो किसी देश का विकास बेहद तेज रफ्तार से होगा। मैं आप सभी को भारत आने का आमंत्रण देता हूं। आप खुद देखेंगे कि भारतीयों पर आपका क्या प्रभाव पड़ता है।’

टीसीएस ने रियाद में पूर्ण महिला बीपीओ केंद्र 2013 में स्थापित किया था। इसमें 1,000 महिलाएं कार्यरत हैं। इनमं से 85 प्रतिशत सऊदी नागरिक हैं। मोदी ने कहा, ‘मेरा एक सुझाव है, मैंने देखा है कि संचालन और पारदर्शिता के लिए प्रौद्योगिकी काफी बड़ी भूमिका निभाती है और मेरे लिए ई-गवर्नेंस आसान, सस्ता और प्रभावी गवर्नेंस है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.