December 04, 2016

ताज़ा खबर

 

डोनाल्‍ड ट्रंप के लिए तैयार हो रही खास कार, सीक्रेट ट्रॉयल की फोटो हुई लीक

अभी जिस गाड़ी का इस्तेमाल किया जा रहा है उसका वजन आठ टन है। उसके बाहर काफी मात्रा में आर्मर प्लेटिंग की गई है। गाड़ी के दरवाजे आठ इंच तक मोटे हैं। हर एक दरवाजे को बोइंग 747 जेट के दरवाजों की तरह बनाया गया है।

अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा की कार बीस्ट। Image Source: PTI

अमेरिका के नए राष्ट्रपति बने डोनाल्ड ट्रंप की एकदम नई लिमोइसिन गाड़ी जिसे की बीस्ट नाम दिया गया है, एकदम रेडी है। इस कार की कुछ फोटोज लीक हो गई हैं। जनवरी 2017 में इसका इनॉग्रेशन किया जाएगा। इसका टॉप सीक्रेट जनरल मोटर्स ने टेस्ट किया है। इस गाड़ी को हर तरीके से महफूज बनाया गया है ताकि नए परिवार को हर तरह से सुरक्षित रखा जाए। इसमें बुलेटफ्रूफ ग्लास के साथ ही आर्मर प्लेटिंग की गई है। इस गाड़ी के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं मिल पाई है लेकिन इसे स्पोर्ट लुक देने के साथ ही चैजिलेक मॉडल का हेडलाइट डिजायन किया गया है। इस कार का कलर भी पहले की कार की तरह ब्लैक और सिल्वर रखा गया है। बस इसे हल्का सा नया लुक देने के लिए कैमोफ्लॉज (छलावा करने वाला) पेंट किया गया है। व्हाइट हाउस के अधिकारियों ने नई कार बनाने का कॉन्ट्रैक्ट पहले ही दे दिया था। इस कार को आधिकारिक रूप से प्रेसिंडेंट स्टेट कार के नाम से जाना जाएगा। लेकिन 2013 में सीक्रेट रेडियो सर्विस पर इसे लिमो वन कहा गया था।

जीत के बाद बोले डोनाल्‍ड ट्रंप- मैं पूरे अमेरिका का राष्‍ट्रपति, सबके सपने पूरे करेंगे


अभी तक किसी भी कार कंपनी ने कार बनाने की जिम्मेदारी नहीं ली है वहीं फॉक्स न्यूज पब्लिक डॉक्यूमेंट्स के अनुसार जनरल मोटर्स की झोली में तीन कॉन्ट्रैक्ट हैं। दस्तावेजों के अनुसार इन गाड़ियों को बनाने के लिए उसे 15 मिलियन डॉलर की रकम दी गई है। व्हाइट हाउस के राष्ट्रपति के इर्द-गिर्द 12 गाड़ियों का एक बेड़ा मौजूद रहता है। यह बेड़ा राष्ट्रपति की सुरक्षा करता है। इसमें शामिल हर एक गाड़ी की कीमत 1.5 मिलियन डॉलर होती है। नई कार की फोटो से किसी निर्णय पर पहुंचना काफी मुश्किल है। लेकिन यह बात साफ है कि इसमें पुराने मॉडल्स की ही तरह कैडिलेक बॉडी है।

अभी जिस गाड़ी का इस्तेमाल किया जा रहा है उसका वजन आठ टन है। उसके बाहर काफी मात्रा में आर्मर प्लेटिंग की गई है। गाड़ी के दरवाजे आठ इंच तक मोटे हैं। हर एक दरवाजे को बोइंग 747 जेट के दरवाजों की तरह बनाया गया है। केबिन एकदम सील है जो किसी भी तरह के केमिकल या बायोलॉजिकल हमले से बचाता है। बाहर की हवा जहरीली होने पर केबिन में एक ऑक्सीजन सप्लाई दी हुई है जिसके जरिए ताजी हवा आती है। सारी खिड़कियां एकदम सील है। ड्राइवर साइड की खिड़की को छोड़कर कोई भी नीचे नहीं होती है। केवलर के कोट किए गए टायर बनाए गए हैं जो उन्हें फटने से बचाते हैं। अगर किसी परिस्थिति में टायर फट भी जाएं तो इसमें मजबूत रिम लगी हुई है जो गाड़ी को चलने में मदद करती है।

गाड़ी के फ्यूल टैंक पर आर्मर प्लेटिंग के साथ ही स्पेशल फोम मौजूद है जिससे कि सीधे इसपर हमला होने पर भी इसमें विस्फोट ना हो। रात को साफ दिखाई देने के लिए नाइट विजन कैमरा, जीपीएस ट्रैकिंग और एक सैटेलाइट कम्युनिकेशन सिस्टम जिससे की किसी भी परिस्थिति में राष्ट्रपति से कॉन्टैक्ट किया जा सके। यहां तक कि राष्ट्रपति के खून से मिलते हुए खून की दो यूनिट रखी रहती है। इसमें लड़ाई करने वाले सभी हथियार मौजूद हैं। जिससे किसी भी समस्या का सामना करते हुए निकला जा सके।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 11, 2016 10:37 am

सबरंग