December 04, 2016

ताज़ा खबर

 

ओबामा ने मनाया दिवाली का जश्न, व्हाइट हाउस के ओवल ऑफ़िस में जलाया पहला दीया

हिलेरी ने कहा, ‘रविवार को, दुनिया भर के लगभग एक अरब हिंदू, जैन, सिख और बौद्ध समुदाय के लोगों ने रोशनी का त्योहार यानी दिवाली मनाया। इनमें 20 लाख से ज्यादा अमेरिकी शामिल हैं।'

Author वॉशिंगटन | October 31, 2016 18:35 pm
व्हाइट हाउस के ओवल कार्यालय में अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने पहली बार दीया जलाकर दिवाली का जश्न मनाया। ( (फोटो सौजन्य-व्हाइट हाउस फेसबुक पेज)

अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने व्हाइट हाउस के ओवल कार्यालय में पहली बार दीया जलाकर दिवाली का जश्न मनाया और उम्मीद जताई कि उनके बाद आने वाले नेता भी इस परंपरा को जारी रखेंगे। वर्ष 2009 में, व्हाइट हाउस में निजी तौर पर दिवाली का जश्न मनाने वाले पहले अमेरिकी राष्ट्रपति ओबामा ने अपने ओवल कार्यालय में अपने प्रशासन के कुछ भारतीय-अमेरिकियों के साथ दीया जलाने के बाद इस शानदार क्षण का जिक्र फेसबुक पोस्ट में किया। ओबामा ने कहा, ‘मुझे वर्ष 2009 में व्हाइट हाउस में दिवाली के जश्न की मेजबानी करने वाला पहला राष्ट्रपति बनने का गौरव प्राप्त हुआ था…मिशेल और मैं कभी नहीं भूल सकते कि भारत के लोगों ने किस तरह बांहें फैलाकर और दिल खोलकर हमारा स्वागत किया था और दिवाली पर मुंबई में हमारे साथ डांस किया था।’ उन्होंने व्हाइट हाउस के फेसबुक पेज पर कहा, ‘इस साल, मुझे ओवल कार्यालय में पहली बार दीया जलाने का सम्मान मिला। यह दीया इस बात का प्रतीक है कि किस तरह से प्रकाश हमेशा ही अंधकार पर विजय हासिल करता आया है। मैं उम्मीद करता हूं कि भविष्य के राष्ट्रपति इस परंपरा को जारी रखेंगे।’ ओबामा की यह पोस्ट सोशल मीडिया पर वायरल हो गई। देर रात तक इसे डेढ़ लाख से ज्यादा लोग लाइक कर चुके थे और इसे 33 हजार से ज्यादा बार शेयर किया जा चुका था।

ओबामा ने कहा, ‘पूरे ओबामा परिवार की ओर से, मैं आपको और आपके प्रियजन को इस दिवाली पर शांति एवं खुशियों की शुभकामनाएं देता हूं।’ अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा, ‘अमेरिका और दुनियाभर में जो भी लोग रोशनी के इस त्योहार को मना रहे हैं, उन्हें दिवाली मुबारक हो। चूंकि हिंदू, जैन, सिख और बौद्ध दीया जलाते हैं, प्रार्थनाओं में इन्हें शामिल करते हैं, अपने घर सजाते हैं और प्रियजन का स्वागत करने के लिए एवं जश्न मनाने के लिए अपने द्वार खोलते हैं…हम मानते हैं कि यह दिन बुराई पर अच्छाई की और अज्ञान पर ज्ञान की विजय का प्रतीक है।’ उन्होंने कहा, ‘यह हमारे साझा अमेरिकी अनुभव के बारे में व्यापक सत्य भी बोलता है। यह इस बात की याद दिलाता है कि जब हम मतभेदों से परे देखते हैं तो कितना कुछ संभव हो जाता है। यह उन उम्मीदों और सपनों की झलक है, जो हमें बांधती हैं।’ ओबामा ने कहा कि यह समय इन संबंधों को गहरा करने के साझा कर्तव्य का नवीकरण करने का है, एक दूसरे की जगह खुद को रखकर देखने का और एक दूसरे की नजर से दुनिया को देखने का और दूसरों को भाइयों एवं बहनों और साथी अमेरिकियों की तरह अपनाने का है। राष्ट्रपति पद के लिए डेमोक्रेटिक पार्टी की उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन भारतीय-अमेरिकी समुदाय में खासी लोकप्रिय हैं। उन्होंने हिंदुओं, सिखों, बौद्धों और जैन लोगों को दिवाली के अवसर पर मुबारक दी।

हिलेरी ने कहा, ‘रविवार को, दुनिया भर के लगभग एक अरब हिंदू, जैन, सिख और बौद्ध समुदाय के लोगों ने रोशनी का त्योहार यानी दिवाली मनाया। इनमें 20 लाख से ज्यादा अमेरिकी शामिल हैं। इन धर्मों के अनुयायियों के लिए दीया जलाना इस बात का प्रतीक है कि प्रकाश अंधकार पर, ज्ञान अज्ञान पर और अच्छाई बुराई पर विजय प्राप्त करती है।’ रिपब्लिकन उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप की ओर से ऐसा कोई बयान नहीं आया लेकिन उनकी पुत्रवधू लारा ट्रंप ने पिछले सप्ताह वर्जीनिया के एक हिंदू मंदिर में दिवाली मनाई थी। रिपब्लिन नेशनल कमिटी के अध्यक्ष रीन्स प्रीबस और सहअध्यक्ष शैरोन डे ने कहा कि रिपब्लिकन्स होने के नाते वे देशभर में धार्मिक स्वतंत्रता का समर्थन करते हैं ताकि सभी अमेरिकी इन महान परंपराओं को समुदायों के साथ साझा कर सकें। अध्यक्ष प्रीबस ने कहा, ‘हिंदू, जैन और सिख धर्म के हमारे दोस्त और पड़ोसी रोशनी के इस त्योहार को मनाते हैं, ऐसे में दिवाली एक खास अवसर बन जाता है।’ उन्होंने कहा, ‘इस जश्न के दौरान हमें यह तो स्मरण होता ही है कि इतने प्रवासियों द्वारा लाई गई परंपराओं ने हमारे देश को और अधिक मजबूत और विविध बनाया है, इसके साथ ही हमें यह भी याद आता है कि हम कितने खुशकिस्मत हैं जो हमें इतना आशीर्वाद प्राप्त है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 31, 2016 3:07 pm

सबरंग