December 06, 2016

ताज़ा खबर

 

बांग्लादेश में बढ़ रही रोहिंग्या शरणार्थियों की तादाद, तलब किए गए म्यांमार के राजदूत

बांग्लादेश ने राजदूत को बताया गया कि कड़ी सीमा निगरानी के बावजूद म्यांमार के हजारों नागरिक लगातार बांग्लादेश आ रहे हैं।

Author ढाका | November 24, 2016 16:15 pm
ग़ैर-कानूनी तरीके से प्रवेश कर रहे 38 रोहिंग्या मुस्लिमों को बांग्लादेश के सीमाई चेक प्वॉइंट पर पकड़ा गया। (REUTERS/Mohammad Ponir Hossain/21 Nov, 2016)

म्यांमार में सैन्य अभियानों के चलते मजबूरन अपने गांवों को छोड़कर बांग्लादेश आ रहे हजारों रोहिंग्या मुस्लिमों के देश आने पर चिंता जाहिर करते हुए बांग्लादेश ने म्यांमार के राजदूत को ढाका में तलब किया और इस संबंध में तत्काल उपाय करने को कहा ताकि यह सुनिश्चित हो कि अल्पसंख्यक रोहिंग्या मुस्लिमों को मजबूरन सीमा पार कर शरण नहीं लेनी पड़े। बांग्लादेश के विदेश मंत्रालय ने म्यांमार के राजदूत म्यो मिंत थान को बुधवार (23 नवंबर) को तलब किया और बांग्लादेश की सीमा से लगते म्यांमार के बौद्ध बहुल पश्चिमी राखिन राज्य में उत्पन्न संकट पर चिंता जताई। बांग्लादेश के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने बताया, ‘राखिन राज्य में जारी सैन्य कार्रवाई के चलते वहां के लोगों (रोहिंग्या मुसलमानों) और समूचे बांग्लादेश पर जो असर पड़ा है, उसे लेकर हमने म्यांमार प्रशासन को (म्यांमार के राजदूत के समक्ष) अपनी चिंताओं से अवगत करा दिया है।’

उन्होंने कहा कि राजदूत को बताया गया कि कड़ी सीमा निगरानी के बावजूद म्यांमार के हजारों नागरिक लगातार बांग्लादेश आ रहे हैं। विदेश विभाग के बयान के अनुसार बांग्लादेश ने म्यांमार से यह भी अनुरोध किया कि वह सेना के कथित बेतहाशा और अनुचित प्रयोग तथा राखिन में सैन्य अभियान के दौरान हुए मानवाधिकार उल्लंघन को लेकर अंतरराष्ट्रीय समुदाय की निष्पक्ष जांच के आह्वान को ‘उचित महत्व’ दे। बयान के अनुसार, ‘बांग्लादेश ने म्यांमार से तत्काल उपाय शुरू करने का अनुरोध किया है ताकि मुस्लिम अल्पसंख्यकों को मजबूरन सीमा पार कर शरण नहीं लेनी पड़े।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 24, 2016 4:15 pm

सबरंग