December 10, 2016

ताज़ा खबर

 

कश्मीर में LoC पर बिगड़ते हालात से परेशान बान की मून

भारतीय सेना द्वारा पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में आतंकवादी ठिकानों पर लक्षित हमले के बाद से भारत एवं पाकिस्तान के बीच तनाव बढ़ गया है।

Author संयुक्त राष्ट्र | November 26, 2016 00:24 am
संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून। (पीटीआई फाइल फोटो)

संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून ने कश्मीर में नियंत्रण रेखा के पास हालात ‘खराब होने’ पर गहरी चिंता व्यक्त करते हुए क्षेत्र में स्थिरता बहाली की अपील की और कहा कि विश्व संस्था ‘स्थायी’ शांति एवं सुरक्षा हासिल करने के ‘सभी प्रयासों’ का समर्थन करती है। संयुक्त राष्ट्र ने अपने प्रवक्ता की ओर से जारी बयान में कहा, ‘महासचिव हाल के दिनों में कश्मीर में नियंत्रण रेखा के पास हालात बिगड़ने को लेकर बहुत चिंतित हैं।’ बयान में कहा गया, ‘वह सभी संबंधित पक्षों से शांति एवं स्थिरता की बहाली को प्राथमिकता देने की अपील करते हैं ताकि तनाव और नहीं बढ़े तथा और अधिक लोगों की जान नहीं जाए।’ इसमें कहा गया है कि बान ‘को भरोसा है कि भारत एवं पाकिस्तान साझा आधार खोज सकते हैं और स्थायी शांति स्थापित करने की दिशा में काम कर सकते हैं।’ बयान में कहा गया, ‘संयुक्त राष्ट्र इलाके के लोगों के साथ खड़ा है और स्थायी शांति एवं सुरक्षा स्थापना के सभी प्रयासों का समर्थन करता है।’

उरी में भारतीय सैन्य ठिकाने पर 18 सितंबर को हुए हमले और इसके जवाब में 10 दिन बाद सेना द्वारा पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में आतंकवादी ठिकानों पर लक्षित हमले के बाद से भारत एवं पाकिस्तान के बीच तनाव बढ़ गया है। इसके बाद से सीमा पार से होने वाली गोलीबारी बढ़ी है और दोनों पक्षों के जवान एवं असैन्य नागरिकों की मौत की घटनाओं में इजाफा हुआ है। सीमा पार से कथित रूप से भारत की गोलीबारी में इस सप्ताह तीन पाकिस्तानी जवानों समेत 12 लोगों की मौत हुई। इससे पहले भारतीय सेना ने सीमा पार से हुए हमले में तीन भारतीय जवानों के शहीद होने के बाद करारा जवाब देने की चेतावनी दी थी। शहीद हुए तीन जवानों में से एक का शव क्षत विक्षत अवस्था में मिला था। पाकिस्तान ने इन आरोपों को ‘झूठा’ एवं ‘निराधार’ बताया है कि वह भारतीय जवानों की मौत और क्षत विक्षत शव के लिए जिम्मेदार है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 25, 2016 1:56 pm

सबरंग