ताज़ा खबर
 

ऑस्ट्रेलिया: भारतीय मूल के बस चालक का हत्यारा मानसिक रूप से बीमार था

ब्रिसबेन के लॉर्ड मेयर ग्राहम किर्क ने कहा कि हमला नस्ली भावना से प्रेरित नहीं था। अलीशर एक लोकप्रिय पंजाबी गायक भी था।
Author मेलबर्न | October 31, 2016 20:42 pm
भारतीय मूल का बस चालक मनमीत अलीशर ऑस्ट्रेलिया के ब्रिसबेन में रहता था। (फोटो-फेसबुक)

ऑस्ट्रेलिया के ब्रिसबेन में भारतीय मूल के बस चालक मनमीत अलीशर पर ज्वलनशील तरल पदार्थ उड़ेलकर उसकी हत्या करने के आरोपी व्यक्ति के बारे में यह पुष्टि हुई है कि आरोपी पहले एक मानसिक रोगी था और अधिकारियों ने उसे दिए गए उपचार के मामले में तय समय के अंदर जांच के आदेश दिए हैं। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री कैमरन डिक के मुताबिक आरोपी एंथनी मार्क एडवर्ड ओडोनोह्यू (48) का क्वींसलैंड हेल्थ के मानसिक स्वास्थ्य सेवा केंद्र में उपचार हुआ था। मंत्री ने यह भी घोषणा की कि ओडोनोह्यू को दिए गए उपचार के संबंध में स्वतंत्र बाह्य जांच शुरू की जाएगी। डिक ने बताया कि फॉरेंसिक मानसिक रोग चिकित्सक पॉल मुलेन की निगरानी में आरोपी के उपचार के संबंध में स्वतंत्र जांच की जाएगी और इसे आठ हफ्तों के अंदर पूरा कर लिया जाएगा।

बहरहाल, ब्रिसबेन के लॉर्ड मेयर ग्राहम किर्क ने आज (सोमवार, 31 अक्टूबर) 29 वर्षीय अलीशर के परिवार और मित्रों के प्रति अपना समर्थन जाहिर किया और कहा कि हमला नस्ली भावना से प्रेरित नहीं था। अलीशर एक लोकप्रिय पंजाबी गायक भी था। किर्क ने अलीशर के परिवार और दोस्तों से मुलाकात की और कहा कि ऐसे कोई साक्ष्य नहीं हैं कि हमला नस्ली भावना से प्रेरित था और इसी उद्देश्य से सभी नस्लों एवं पृष्ठभूमियों के निवासी पीड़ित तथा ब्रिसबेन बस चालकों को अपना समर्थन प्रदर्शित करने के लिए एकसाथ सामने आए। बहरहाल, रविवार (30 अक्टूबर) को भारत से यहां पहुंचे अलीशर के भाई अमित अलीशर के हवाले से ‘एबीसी न्यूज’ ने कहा है, ‘हमें आशंका है कि ऐसा (नस्ली भावना से प्रेरित हमला) हो सकता है।’ अलीशर के भाई ने कहा, ‘हम आगामी प्रक्रिया देखना चाहेंगे। हमें आॅस्ट्रेलिया की प्रणाली में विश्वास है।’

किर्क ने ब्रिसबेन समुदाय की ओर से अलीशर के परिवार को अपना समर्थन और गहरी संवेदना प्रकट की। शहर के काउंसिल ने भी अलीशर के परिवार के समर्थन में धन जुटाने की घोषणा की और कहा कि स्थानीय समुदाय के साथ विचार विमर्श के बाद अलीशर के सम्मान में एक स्थायी स्मारक भी बनाया जाएगा। स्वास्थ्य मंत्री डिक ने बताया, ‘जहां तक संभव होगा, जांच से संबंधी किसी भी तरह के निष्कर्षों और अनुशंसाओं को सार्वजनिक किया जाएगा।’ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार (30 अक्टूबर) को अपने ऑस्ट्रेलियाई समकक्ष मैल्कम टर्नबुल के समक्ष 29 वर्षीय अलीशर की नृशंस मौत पर भारत की ओर से चिंता जताई थी। टर्नबुल ने भारतीय मूल के व्यक्ति की मौत पर शोक जताया था और मोदी को बताया था कि मामले में जांच की जा रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग