ताज़ा खबर
 

ईरान-इराक में 7.2 तीव्रता का भूकंप: कम से कम 328 मारे गए, 2500 से ज्‍यादा घायल

Earthquake in Iran, Iraq Border Today: झटके तुर्की, इजरायल, कुवैत, लेबनान और यहां तक कि पाकिस्तान में भी महसूस किए गए।
भूकंप से तबाह हुए पश्चिमी ईरान का नजारा। (Photo: Pouria Pakizeh/ISNA via AP)

ईरान-इराक की पहाड़ी सीमा पर 7.3 की तीव्रता का भूकंप आने से मरने वालों की संख्या 328 हो गई है और 2500 लोग घायल हैं। वहीं भूकंप के कारण हुए भूस्खलन बचाव कार्यों में बाधा उत्पन्न कर रहे हैं। ट्विटर पर पोस्ट किए गए एक फुटेज में घबराए हुए लोग उत्तरी इराक में सुलेमानिया स्थित इमारतों से बाहर निकलते नजर आ रहे हैं। निकटवर्ती दरबंदीखान में भी कई प्रमुख दीवारें और कंक्रीट के ढांचे ढह गए। भूकंप की स्थिति को संभालने के लिए स्थापित ईरानी सरकार की आपदा इकाई के उपप्रमुख बेहनम सैदी ने सरकारी टेलीविजन को पहले बताया था कि, ‘‘164 से अधिक लोग मारे गए हैं और 1,686 से अधिक लोग घायल हैं।’’

इराक की सीमा में छह अन्य लोगों के मारे जाने की भी खबर है। ईरान के करमानशाह प्रांत के डिप्टी गवर्नर मोजतबा निक्केरदर ने कहा, ‘‘हम तीन आपात राहत शिविर स्थापित करने की तैयारी कर रहे हैं।’’ ‘यूएसजीएस’ ने बताया कि भूकंप हलबजा से 30 किलोमीटर दूर दक्षिण-पश्चिम में रविवार रात करीब नौ बजकर 20 मिनट पर आया। वहीं, बचाव अधिकारियों के मुताबिक, मृतकों की संख्या बढ़ सकती है क्योंकि कई लोग मलबे के नीचे दबे हो सकते हैं।

PHOTOS में देखिए इराक में भूकंप ने कैसे मचाया मौत-तबाही का तांडव, घरों से लेकर सड़क पर बिछी लाशें

अमेरिकी भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण (यूएसजीएस) के मुताबिक, भूकंप ईरान की पूर्वोत्तर सीमा के पास इराक के हालाब्जा शहर के 30 किलोमीटर दक्षिणपश्चिम में आया। भूकंप 33.9 किलोमीटर की गहराई में दर्ज किया गया और इसके झटके तुर्की, इजरायल, कुवैत, लेबनान और यहां तक कि पाकिस्तान में भी महसूस किए गए। भूकंप में ईरान के 20 से अधिक गांव नष्ट हो गए हैं। बिजली और पानी आपूर्ति बाधित है। ईरान की आपातकाल विभाग की टीमें तुरंत हरकत में आई और हेलीकॉप्टर के जरिए भूकंप प्रभावित क्षेत्रों में लोगों की बुनियादी जरूरतें पूरी की जा रही हैं।

भूकंप के झटके से लोगों में दहशत फैल गई और लोग अपने घरों से भागकर सड़कों पर आ गए। इराक के मौसम विज्ञान संगठन ने चेतावनी जारी करते हुए नागरिकों को इमारतों से दूर रहने और एलेवेटर का इस्तेमाल नहीं करने की हिदायत दी है। प्रधानमंत्री कार्यालय से जारी बयान के मुताबिक, इराक के प्रधानमंत्री हैदर अल-अबादी भूकंप के बाद देश की नागरिकों की स्थिति पर करीब से नजर बनाए हुए हैं।

ईरान के रेड क्रेसेंट संगठन के मोर्टेजा सलीम ने आईआरआईएनएन चैनल को बताया कि यहां के आठ गांवों में भारी क्षति हुई है। ईरानी मीडिया के मुताबिक, भूकंप से ईरान के कई स्थानों पर बिजली भी बाधित हुई है, जिससे राहत एवं बचाव कार्यों में दिक्कत आ रही है।

कुर्दिश टीवी के अनुसार, इराकी कुर्दिस्तान में कई लोग भूकंप की वजह से अपने घरों को छोड़कर जान बचाकर भाग गए हैं। हालांकि अभी वहां से  जानमाल के नुकसान की कोई ख़बर नहीं मिली है।

5 साल पहले भी ईरान-इराक में दो बड़े भयानक भूकंप आए थे जिसमें कई सौ लोगों की जान गई थी। अगस्त 2012 में भी ईरान के उत्तर-पश्चिमी इलाके में दो जबर्दस्त भूकंपों में करीब 250 लोग मारे गए और 1300 से ज्यादा लोग घायल हुए थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.