ताज़ा खबर
 

रिपब्लिकन पार्टी के 50 वरिष्ठ सुरक्षा विशेषज्ञों ने कहा- डोनाल्ड ट्रंप खतरनाक साबित होंगे, अमेरिका के राष्ट्रपति बनने के काबिल नहीं

ट्रंप ने उनकी आलोचना करने वाले रिपब्लिकन सुरक्षा विशेषज्ञों को वाशिंगटन में बैठे अभिजात्य कहा।
डोनाल्ड ट्रंप अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव के लिए रिपब्लिकन पार्टी के कैंडिडेट हैं। (फाइल फोटो)

रिपब्लिकन पार्टी के अमेरिकी राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप को सोमवार को एक बड़ा झटका लगा। रिपब्लिकन पार्टी के 50 राष्ट्रीय सुरक्षा विशेषज्ञों ने कहा है कि ट्रंप अमेरिका के लिए खतरनाक राष्ट्रपति साबित होंगे और उनके राष्ट्रपति बनने से देश की सुरक्षा को भी गंभीर खतरा पैदा हो सकता है। इन विशेषज्ञों में पूर्व वरिष्ठ खुफिया अधिकारी और पूर्व वरिष्ठ राजनयिक शामिल हैं। हालांकि ट्रंप ने इन विशेषज्ञों की राय को यह कहकर खारिज कर दिया है कि “वाशिंगटन में रहने वाले इस अभिजात्य समूह” को बताना चाहिए कि दुनिया आज इतनी बुरी स्थिति में क्यों है।

इन सुरक्षा विशेषज्ञों ने सोमवार को जारी अपने बयान में कहा कि “हममें से कोई भी ट्रंप को वोट नहीं देगा। विदेश नीति के नजरिए से ट्रंप राष्ट्रपति और देश की सेना के कमांडर इन चीफ बनने के काबिल नहीं हैं। हमें पूरा यकीन है कि ट्रंप एक खतरनातक राष्ट्रपति होंगे और देश सुरक्षा और शांति को गंभीर खतरे में डाल देंगे।”

इन रिपब्लिकन सुरक्षा विशेषज्ञों की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि “सबसे बुनियादी बात ये है कि ट्रंप में राष्ट्रपति बनने के लिए जरूरी चरित्र, मूल्यों और अनुभव का अभाव है. उन्होंने अमेरिका के मुक्त विश्व का स्वाभाविक नेता होने के नैतिक आधार को कमजोर किया है।” जिन 50 सुरक्षा विशेषज्ञों ने इस बयान पर दस्तखत किए हैं उनमें ऐसे लोग शामिल जो पूर्व रिपब्लिकन सरकार में राष्ट्रीय सुरक्षा और विदेशी नीति से जुड़े वरिष्ठ पदों पर काम कर चुके हैं। इन अधिकारियों में रिचर्ड निक्सन से लेकर जॉर्ज बुश तक के शासनकाल में काम कर चुके अधिकारी शामिल हैं।

Video: डोनाल्ड ट्रंप को पसंद नहीं बच्चे, रैली के दौरान बच्चे की मां से बोले- इसको लेकर बाहर जाओ

सुरक्षा विशेषज्ञों ने 70 वर्षीय कारोबारी ट्रंप के अमेरिकी संविधान, अमेरिकी कानून और अमेरिकी संस्थाओं की जानकारी पर भी सवाल उठाया है. विशेषज्ञों ने लिखा है, “ऐसा प्रतीत होता है कि ट्रंप को धार्मिक सहिष्णुता, प्रेस की स्वतंत्रता और आजाद न्यायपालिका की बुनियादी जानकारी नहीं है।”

जिन लोगों ने इस बयान पर दस्तखत किया है उनमें सीआईए के पूर्व निदेशक माइकल हेडेन, अमेरिका का पूर्व वाणिज्य प्रतिनिधि कार्ला ए हिल्स, भारत में अमेरिका के पूर्व राजदूत रॉबर्ट ब्लैकविल और व्हाइट हाउस के नेशनल सिक्योरिटी काउंसिल रिचर्ड फॉन्टेने शामिल हैं। इससे पहले शुक्रवार को सर्वोच्च अमेरिकी खुफिया एजेंसी सीआईए के पूर्व निदेशक माइकल मोरेल ने ट्रंप को रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन का “एजेंट” बताया था।

सुरक्षा विशेषज्ञों के बयान का जवाब देते हुए ट्रंप ने देर रात जारी एक वक्तव्य में कहा, “सामने आने के लिए हम उनका शुक्रिया अदा करते हैं क्योंकि देश में हर कोई जानता है कि दुनिया को इतनी खतरनाक जगह बनाने के लिए कौन जिम्मेदार है।”

हिलेरी क्लिंटन ने गलती से डोनाल्ड ट्रंप को बताया अपना पति

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.