ताज़ा खबर
 

इस महिला ने पहले अपने बेटे और फिर बेटी से कर ली शादी, अब फंसी

पैटरीसिया और उसकी बेटी मिस्टी को बुधवार को स्टीफन्स काउंटी जिला कोर्ट में पेश किया गया था।
मिस्टी ने अपनी मां के खिलाफ धोखे से शादी करने का केस दर्ज कराया था। (Photo Source: Facebook)

यूनाइटेड स्टेट के मध्य-पश्चिमी भाग के ओक्लाहोमा इलाके में पुलिस ने एक महिला को अपनी बेटी के साथ शादी करने के मामले में दोषी पाया गया है। चाइल्ड वेलफेयर इंवेस्टिगेशन के दौरान पिछले महीने पुलिस को पता चला था कि 43 वर्षीय पैटरीसिया एन स्पान और उसकी बेटी मिस्टी ने आपस में मार्च में शादी कर ली थी। जांच के दौरान पुलिस को पता चला कि पैटरीसिया ने साल 2008 में अपने बेटे से भी शादी की थी, जिसने शादी के 15 महीने के बाद शादी को रद्द करने के लिए आवेदन दे दिया था। फिलहाल इस शादी के पीछे के कारण का पता नहीं चल पाया है।

रिपोर्ट के अनुसार पैटरीसिया और उसकी बेटी मिस्टी को बुधवार को स्टीफन्स काउंटी जिला कोर्ट में पेश किया गया था। बता दें कि ओक्लाहोमा के कानून के अनुसार दो करीब संबंधियों की शादियों को कुप्रथा माना जाता है, जहां पर किसी भी प्रकार के शारीरिक रिश्ते का कोई अस्तित्व ही नहीं है। मिस्टी ने अपनी मां के खिलाफ धोखे से शादी करने का केस दर्ज कराया था। मिस्टी की शिकायत के अनुसार पैटरीसिया ने उससे कहा था कि उसने तीन वकीलों से बात की और उनका कहना था कि उन दोनों की शादी में कोई दिक्कत नहीं आएगी।

वहीं मामले की सुनवाई के दौरान कोर्ट ने पाया कि पैटरीसिया ने धोखे से अपनी बेटी को उससे शादी करने लिए मजबूर किया था। इस मामले को गंभीरता से लेते हुए कोर्ट ने इस कुप्रथा का दोषी मानते हुए पैटरीसिया को दस साल की सजा सुनाई और मिस्टी के खिलाफ केस रद्द कर दिया। चाइल्ड सर्विस इंवेस्टिगेटर से बातचीत के दौरान पैटरीसिया ने बताया कि वह अपने तीनों बच्चों की कस्टडी खो चुकी थी और उनके दादा-दादी ने उन्हें गोद ले लिया था। एसोसिएटिड प्रेस की रिपोर्ट के अनुसार दो साल पहले ही उसका संपर्क उसकी बेटी से हुआ था। पैटरीसिया ने कहा कि उसने सोचा था कि वह अपनी बेटी से शादी कर सकती है क्योंकि उसका नाम जन्म प्रमाणपत्र पर मिस्टी स्पान नहीं था।

देखिए वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.