ताज़ा खबर
 

शंघाई: मातम में बदला नववर्ष का जश्न, भगदड़ में 36 की मौत

चीन के शंघाई में नए साल के जश्न के दौरान फर्जी डॉलर बिल को हासिल करने की होड़ के चक्कर में मची भगदड़ में 25 महिलाओं सहित कम से कम 36 लोगों की मौत हो गई और 48 घायल हो गए। हाल के वर्षों में यह चीन की सबसे भयावह त्रासदियों में से एक है। […]
Author January 1, 2015 17:19 pm
Shanghai-Stampede: डॉक्टरों के मुताबिक अधिकतर घायलों को फ्रैक्चर हुआ है और इनमें से पांच की हालत गंभीर है। (फ़ोटो-एपी)

चीन के शंघाई में नए साल के जश्न के दौरान फर्जी डॉलर बिल को हासिल करने की होड़ के चक्कर में मची भगदड़ में 25 महिलाओं सहित कम से कम 36 लोगों की मौत हो गई और 48 घायल हो गए। हाल के वर्षों में यह चीन की सबसे भयावह त्रासदियों में से एक है।

पुलिस के मुताबिक भगदड़ स्थानीय समयानुसार कल रात लगभग 11 बजकर 35 मिनट पर मची, जब लोग नदी के किनारे स्थित चर्चित बुंद इलाके में एक लाइव शो को देखने के लिए दौड़े।

प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि बड़ी संख्या में लोग सीढ़ियों पर ऊपर की ओर दौड़े जबकि पहले से जो लोग वहां मौजूद थे, वे इन तंग सीढ़ियों से नीचे की ओर आ रहे थे। एक घायल व्यक्ति ने बताया कि जो लोग ऊपर की ओर जा रहे थे, वे गिर गए और कई लोग उनके उच्च्पर गिर गए जिससे बड़ी संख्या में लोग हताहत हुए।

कुछ प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि ‘डॉलर बिल’ जैसे नजर आने वाले कुछ कूपन एक इमारत की तीसरी मंजिल की खिड़की से फेंके जाने के समय भगदड़ मची। प्रत्यक्षदर्शी वू ताओ ने कहा कि कुछ कूपन बुंद के निकट एक इमारत की तीसरी मंजिल की खिड़की से फेंके जा रहे थे और नदी के किनारे खड़े लोगों में कूपन पाने की होड़ सी मच गई।

सरकारी समाचार एजेंसी शिन्हुआ के अनुसार कूपन 100 डॉलर के बैंकनोट की तरह दिख रहे थे और इसके मध्य में ‘एम 18’ छपा हुआ था। ‘एम 18’ नाम का ही वहां एक बार है।

सोशल मीडिया में कुछ लोगों का कहना है कि उन्हें बार के मालिक की वह तस्वीर मिल गई है जिसमें घटना से पहले वह कूपन दिखाते हुए नजर आ रही है। ‘सिना वेबो’ सोशल वेबसाइट पर ब्लॉगर ने कूपन फेंके जाने से इंकार किया है।

‘शंघाई डेली’ के अनुसार शहर के सूचना कार्यालय ने बताया कि भगदड़ में 36 लोगों की मौत हो गई और 48 लोग घायल हो गए। मारे गए लोगों में 25 महिलाएं शामिल हैं।

अधिकतर घायलों को फ्रैक्चर हुआ है और इनमें से 14 की हालत गंभीर बताई जाती है। घायलों में अधिकांश 20 साल की उम्र के आसपास के लोग हैं। इस आयोजन में मौजूद अधिकतर लोग छात्र बताए जाते हैं।

चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने इस घटना की तत्काल जांच के आदेश दिए और घायलों के उचित इलाज के लिए कहा है। उन्होंने एक संदेश में कहा कि जश्न समारोहों के दौरान इस तरह की घटनाओं को रोका जाना चाहिए।

चीन के प्रधानमंत्री ली क्विंग ने कहा कि सार्वजनिक स्थलों की सुरक्षा को, खासतौर पर छुट्टियों के दौरान सुनिश्चित किया जाना चाहिए। ली ने कहा कि चोटों के कारण होने वाली मौतों की संख्या में कमी लाने के लिए ‘‘हर संभव प्रयास’’ किया जाए और रिश्तेदारों को धीरज बंधाया जाए। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि कड़े सुरक्षात्मक उपाय अपनाए जाने चाहिए और सार्वजनिक सुरक्षा एवं सामाजिक स्थिरता सुनिश्चित की जानी चाहिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग