ताज़ा खबर
 

माली में चरमपंथी हमला, 22 की हत्या

माली की राजधानी बमाको में लग्जरी होटल रेडिसन ब्लू पर धावा बोलकर बंदूकधारियों ने 170 मेहमानों और कर्मचारियों को बंधक बना लिया और इनमें से कम से कम 22..
माली की राजधानी बमाको के रेडिसन ब्लू होटल के सामने खड़ा सुरक्षाकर्मी। (रॉयटर्स फोटो)

माली की राजधानी बमाको में लग्जरी होटल रेडिसन ब्लू पर धावा बोलकर बंदूकधारियों ने 170 मेहमानों और कर्मचारियों को बंधक बना लिया और इनमें से कम से कम 22 लोगों की हत्या कर दी। करीब नौ घंटे बाद फ्रांस ने बंधक संकट खत्म होने की घोषणा करते हुए बताया कि दो बंदूकधारियों को मार गिराया गया है। बंधकों में 20 भारतीय भी शामिल थे जिन्हें बिना किसी नुकसान के वहां से सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया।

होटल पर बंदूकधारियों ने करीब नौ घंटे तक कब्जा जमाए रखा और वे अत्याधुनिक हथियारों से गोलीबारी करते रहे। सुरक्षा मंत्री सलीफ त्राअ‍ेरे ने एलान किया कि बंधक संकट खत्म हो गया है और सुरक्षा बलों ने दो बंदूकधारियों को मार गिराया गया। त्राओरे ने पत्रकारों से कहा, ‘फिलहाल बंदूकधारियों के कब्जे में कोई बंधक नहीं है और सुरक्षा बल हमलावरों का पता लगा रहे हैं’।

एक विदेशी सुरक्षा सूत्र ने बताया, ‘18 शव बरामद कर लिए गए हैं’। इस सूत्र ने कहा कि पड़ोसी देश के बुरकिना फासो से फ्रांस के विशेष सुरक्षा बल भी होटल पहुंचे और अभियान में शामिल हैं। पेरिस में आतंकी हमलों के एक हफ्ते बाद यह घटना घटी है। पेरिस हमलों में 130 लोग मारे गए थे। इन दोनों घटनाओं में कोई प्रत्यक्ष संबंध नहीं है, लेकिन माली उत्तरी अफ्रीका में इस्लामवादी चरमपंथियों के खिलाफ फ्रांसीसी सेना के अभियान का केंद्र रहा है। रेडिसन ब्लू होटल में बंदूकधारियों के 150 मेहमानों-कर्मचारियों के साथ बंधक बनाए गए सभी 20 भारतीयों को सुरक्षित निकाल लिया गया।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने ट्वीट किया, ‘अच्छी खबर है। बमाको के होटल से सभी 20 भारतीयों को सुरक्षित निकाल लिया गया है। माली में हमारे राजदूत ने इसकी पुष्टि की है’। प्रवक्ता के मुताबिक, दुबई की एक कंपनी के लिए काम करने वाले ये भारतीय स्थाई तौर पर होटल में ठहरे हुए थे।

माली का उत्तरी हिस्सा 2012 में अलकायदा से जुड़े जेहादी समूहों ने कब्जा कर लिया था, लेकिन साल 2013 की शुरुआत में फ्रांस के नेतृत्व वाले अभियान के जरिए इस क्षेत्र को मुक्त कराया गया। बमाको में इस बंधक संकट के बीच यूरोपीय संघ के मंत्रियों ने ब्रसेल्स में आपात बैठक की और सीमा नियंत्रण को सख्त बनाने पर सहमति जताई। पेरिस हमलों के बाद यह फैसला अहम है। बंदूकधारी भारतीय समयानुसार दोपहर करीब 12:30 बजे 190 कमरों वाले इस होटल में दाखिल हुए। हमले के समय बहुत सारे मेहमान अपने कमरों में थे।

इस 190 कमरों में वाले होटल में अत्याधुनिक हथियारों से की गई गोलीबारी की आवाज सुनी गई। मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि कम से कम तीन बंधक मारे गए हैं। इनकी पहचान के बारे में अभी पता नहीं चला है। बंधकों में कई चीनी नागरिक और टर्किश एअरलाइंस कर्मचारी भी थे। होटल में बेल्जियम की एक क्षेत्रीय असेंबली के अधिकारी ज्योफरी दिएदोने भी मारे गए हैं।

साहेल क्षेत्रीय सम्मेलन के लिए चाड पहुंचे माली के राष्ट्रपति इब्राहीम बाउबकर कीथा अपना दौरा बीच में खत्म करके स्वदेश लौट रहे हैं। उनके कार्यालय ने यह जानकारी दी। रेडिसन ब्लू का परिचालन करने वाली कंपनी रेजिडोर होटल ग्रुप ने इससे पहले कहा था कि होटल के अंदर 138 लोग बंधक बने हुए हैं।

माली में अमेरिकी दूतावास ने परामर्श जारी किया कि इस देश में मौजूद कोई अमेरिकी नागरिक अपने परिवारों से संपर्क करे और स्थानीय मीडिया पर नजर बनाए रखे। देश के उत्तर में पूर्व तुआरेग विद्रोहियों और प्रतिद्वंद्वी सरकार समर्थक सशस्त्र समूहों के बीच जून में शांति समझौते के बावजूद इस्लामी गुट आए दिन माली में हमले करते रहते हैं।

सभी भारतीय सुरक्षित निकाले गए:

माली की राजधानी बमाको के रेडिसन ब्लू होटल में बंदूकधारियों के 150 अन्य मेहमानों के साथ बंधक बनाए गए सभी 20 भारतीयों को सुरक्षित निकाल लिया गया है। शुक्रवार को विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने ट्वीट किया, ‘अच्छी खबर है। बमाको के होटल से सभी 20 भारतीयों को सुरक्षित निकाल लिया गया है। माली में हमारे राजदूत ने इसकी पुष्टि की है’। प्रवक्ता के मुताबिक दुबई की एक कंपनी के लिए काम करने वाले ये भारतीय स्थाई तौर पर होटल में ठहरे हुए थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग