ताज़ा खबर
 

चीन में भूस्खलन के बाद करीब 100 लोग लापता

चीन के शेनजेन शहर के एक औद्योगिक इलाके में भारी भूस्खलन के बाद सैकड़ों बचावकर्मी बारिश और कम दृश्यता के बीच लापता लोगों का पता लगाने में जुटे हैं..
Author बेजिंग | December 21, 2015 23:27 pm
एक टूटते हुए पहाड़ से सैकड़ों टन मिट्टी गिरी और इसने 33 इमारतों को अपनी चपेट में ले लिया। (एपी फोटो)

चीन के शेनजेन शहर के एक औद्योगिक इलाके में भारी भूस्खलन के बाद सैकड़ों बचावकर्मी बारिश और कम दृश्यता के बीच लापता लोगों का पता लगाने में जुटे हैं। इस घटना में 32 महिलाओं सहित करीब 100 लोग लापता हैं। सरकारी समाचार एजंसी शिन्हुआ ने अधिकारियों के हवाले से कहा कि 91 लोग लापता हैं, जिनमें 59 पुरुष और 32 महिलाएं हैं।

इस भूस्खलन को चीन की सबसे बुरी शहरी आपदाओं में से एक माना जा रहा है। इस दौरान एक टूटते हुए पहाड़ से सैकड़ों टन मिट्टी गिरी और इसने 33 इमारतों को अपनी चपेट में ले लिया। इसके कारण शेनजेन के एक औद्योगिक पार्क में स्थित गैस स्टेशन में विस्फोट भी हो गया। मलबे में फंसे पीड़ितों को निकालने के लिए पहले बचाव कार्यों में 1200 बचावकर्मी और 78 और भी लोग लगे हुए थे जिनमें दमकल कर्मी, पुलिस और स्वास्थ्यकर्मी शामिल थे। अब बचावकर्मियों की संख्या 2,906 हो गई है जिनमें 8,00 सैन्य बल शामिल हैं।

बचाव कार्यों के मुख्यालय ने कहा कि उन्हें घटनास्थल पर तीन अलग-अलग स्थानों पर जीवित लोगों के संकेत मिले हैं। बचावकर्मी मलबे में फंसे लोगों को बचाने के लिए मुश्किल भौगोलिक स्थितियों से जूझ रहे हैं। शेनजेन के दमकल विभाग के अधिकारी ए झुओकियान ने कहा कि यह स्थान काफी संकरा है और एक ढलान पर स्थित है। इसलिए वाहनों का यहां प्रवेश बहुत मुश्किल है। उन्होंने कहा कि बचाव कार्यों में कई बाधाएं आ रही हैं, जिनमें बारिश, रात के समय कम दृश्यता और मिट्टी की भारी मात्रा शामिल है।

अधिकारियों ने कहा कि भूस्खलन के कारण 33 रिहायशी और औद्योगिक इमारतें दब गईं। चीन की सोशल मीडिया पर ऐसे कई वीडियो चल रहे हैं, जिनमें शहर में लाल मिट्टी का सैलाब साफ दिखाई पड़ रहा है। शाम तक बचावकर्मियों ने 900 से ज्यादा निवासियों को इस घटनास्थल से निकाला। 16 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है जिनकी हालत स्थिर है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.