ताज़ा खबर
 

वीडियो: कपिल शर्मा के शो में राहत इंदौरी ने ऐसे ली नेताओं पर चुटकी कि हँसकर लोटपोट हो गए नवजोत सिंह सिद्धू और कुमार विश्वास

इस वीडियो को देखकर आप अपनी हंसी नहीं रोक पाएंगे।
कपिल शर्मा, राहत इंदौरी और कुमार विश्वास ( photo source- youtube screenshot)

कपिल शर्मा का शो हो और हंसी न आए, ऐसा हो नहीं सकता। इस सप्ताह कपिल शर्मा के शो में उर्दू के मशहूर शायर राहत इंदौरी, आम आदमी पार्टी नेता और कवि कुमार विश्वास और शबीना आई थी। शो में इन कवियों ने शमा बांध दिया। शो देखने वाले अपनी हंसी नहीं रोक सके।

कपिल के बाद कुमार विश्वास ने शो में इंट्री ली। कुमार विश्वास का शो में खूब स्वागत हुआ। कुमार ने आते ही नवजोत सिंह सिद्धू के लिए एक शायरी कही। इसके बाद मस्ती का सिलसिला शुरू हुआ, जो रूका ही नहीं। शो देखने वाले ठहाके लगाते रहे। शो में कुमार विश्वास से कपिल से एक सवाल पूछा कि, ”जहां न पहुंचे कवि, वहां पहुंचे रवि” यह कहां से आया, इसकी शुरुआत कहां से हुई। कपिल के सवाल के जवाब में कुमार विश्वास ने अपने ही अंदाज में जवाब दिया। देखें कुमार का शानदार जबाव-

कुमार विश्वास के कुछ देर बाद ही उर्दू के मशहूर शायर राहत इंदौरी आए। शो में आते ही राहत इंदौरी से शेर पढ़ा,”गुलाब, ख्वाब, जाम, जहर, दवा क्या-क्या है? गुलाब, ख्वाब, जाम, जहर, दवा क्या-क्या है? मैं आ गया हूं बता इंतजाम क्या-क्या है।” राहत इंदौरी का अगला शेर था –
बनके एक हादसा बाजार में आ जाएगा,
जो नहीं होगा वो अखबार में आ जाएगा।।
चोर उचकों की करों कदर,
क्या मालूम कौन, कब कौनसी सरकार में आ जाएगा।

 

कुमार विश्वास ने शायरी पढ़ी- जो दो दिल एक कर देता है वो असली प्यार होता है।(2)
समन को ही खुदा समझे वही स्वीकार होता है।
वतन के वास्ते अपनी जवानी तार पर रख दे, वो भारत मां का असली लाल ही सरदार होता है।

शो में एक मौका ऐसा भी आया, जब राहत की शायरी सुनकर नवजोत सिंह सिद्धू खड़े हो गए और राहत इंदौरी के तालियां बजाने लगे। सिद्धू ने राहत की तारीफ में कहा कि ये अभी तक का सबसे अच्छे शो में एक है। साथ ही कुमार के लिए भी एक खास शायरी पढ़ी।

कपिल के इस शो को यूट्यूब पर 22 लाख से ज्यादा लोग देख चुके हैं। देखें कपिला का ये हंसी वाला शो-

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.