ताज़ा खबर
 

उत्तर में कुबेर तो दक्षिण में यमराज, जानें किस दिशा में बसते हैं कौन से देवता

वरूण देवता को पश्चिम दिशा का मालिक माना जाता है। इन्हें जल देवता भी कहा जाता है।

ईशान कोण में सूर्य देवता वास होता है।

शास्त्रों के मुताबिक सभी दिशाओं में देवी-देवता विद्यमान है। आज हम आपको बताएंगे किस दिशा में कौनसे देवता निवास करते हैं –

1. शास्त्रों के मुताबिक उत्तर दिशा में कुबेर देवता निवास करते हैं। कुबेर देवता को धन का देवता कहा जाता है और सोम को स्वास्थ्य का स्वामी कहा जाता है। माना जाता है इससे आर्थिक मामले और वैवाहिक संबध प्रभावित होते हैं।

2. ईशान कोण में सूर्य देवता का वास होता है। सूर्य को रोशनी और ऊर्जा तथा प्राण शक्ति का मालिक कहा जाता है। इससे बुद्धि और ज्ञान मामले प्रभावित होते हैं।

3. इंद्र देवता को पूर्व दिशा का मालिक माना जाता है इसके साथ ही सूर्य को भी पूर्व दिशा का मालिक माना जाता है। वास्तु के मुताबिक इसका प्रतिनिधित्व इंद्र देवता करते हैं। इससे सुख-संतोष तथा आत्मविश्वास प्रभावित होता है।

4. अग्नेय कोण (दक्षिण-पूर्व) के देवता अग्नि देव माने जाते हैं। जो अग्नि के देवता हैं। इससे पाचन शक्ति, धन और स्वास्थ्य मामले प्रभावित होते हैं।

5. मृत्यु के देवता यमराम को दक्षिण दिशा का मालिक माना जाता है। इन्हें धर्मराज भी कहा जाता है। इनकी पूजा करने से अकाल मृत्यु नहीं होती है।

6. दक्षिण-पश्चिम दिशा के देवता निरती हैं। इन्हें दैत्यों का स्वामी कहा जाता है। इससे रिश्तों में सहयोग तथा मजबूती एव आयु प्रभावित होती है।

7. वरूण देव को पश्चिम दिशा का मालिक माना जाता है। इन्हें जल देवता भी कहा जाता है। इस देवता से सौभाग्य और संतान प्रभावित होती है।

8. पवन देवता को उतर पश्चिम का मालिक माना जाता है। इन्हें वायु देवता के नाम भी जाना जाता है। यह दिशा विवेक और जिम्मेदारी योग्यता और बच्चों को प्रभावित करती है।

ब्रेकिंग न्‍यूज, अपडेट, एनालिसिस, ब्‍लॉग के लिए फेसबुक पेज लाइक, ट्विटर हैंडल फॉलो करें और गूगल प्लस पर जुड़ें

First Published on November 11, 2017 3:50 pm

  1. No Comments.