December 10, 2016

ताज़ा खबर

 

देसी अंडे या सफेद अंडे? जानिए- कौनसे अंडे हैं ज्यादा फायदेमंद

आज हम आपको बताएंगे कि इन दोनों अंड़ों में कौनसा अंडा आपकी सेहत के लिए ज्यादा फायदेमंद होता है।

ब्राउन एग या देसी अंडे सिर्फ केमिकल और कृत्रिम हार्मोन की अनुपस्थिति के कारण ही ज्यादा हेल्दी होते हैं अन्यथा इसके अलावा देखा जाए तो दोनों सामान रूप से फायदेमंद होते हैं।

यह तो आप सब जानते होंगे कि अंडा प्रोटीन लेने का सबसे अच्छा सोर्स है औक इसमें प्रचुर मात्रा में कैल्शियम भी पाया जाता है, जो कि आपकी हड्डियों के लिए फायदेमंद होता है। अंडा स्वास्थ्य के लिए अच्छा तो होता ही है, साथ ही इसे पकाना, खाना या स्टोर करना भी बहुत आसान होता है। वैसे तो बाजार में अधिकतर सफेद अंडे ही मिलते हैं, लेकिन कुछ लोग मानते हैं कि देसी अंडों के नाम से जाने वाले अंडे सेहत के लिए ज्यादा फायदेमंद होते हैं। आज हम आपको बताएंगे कि इन दोनों अंड़ों में कौनसा अंडा आपकी सेहत के लिए ज्यादा फायदेमंद होता है।

दोनो अंडो में अंतर- इन दोनो अंडो में सबसे प्रमुख अंतर रंग का होता है। देसी अंडे सफेद रंग के नहीं बल्कि हल्के भूरे रंग के होते हैं, जबकि एक सफेद अंडे होते हैं। हालांकि बताया जाता है कि देसी अंडे सफेद वाले अंडो से ज्यादा फायेदमंद होते हैं और थोड़े महंगे भी होते हैं। न्यूट्रीशिनिस्ट डॉ. नेहा संवाल्का का कहना है कि देसी अंडे स्वाभाविक रूप से विकसित हुए होते हैं। इन्हें सीधे मुर्गियों से प्राप्त किया जाता है और इनमें किसी भी तरह का आर्टिफिशियल हार्मोन और दवाइयों का इंजेक्शन नहीं दिया जाता है।

वही पोल्ट्री में पल रहे मुर्गियों में ऐसे कई तरह के दवाइयों और हार्मोन का इंजेक्शन दिया जाता है जिससे वे ज्यादा से ज्यादा अंडे दें। इसलिए देसी अंडे ज्यादा फायदेमंद होते हैं, हालांकि डॉ संवाल्का बताती हैं कि आप बाजार में मिलने वाले देसी अंडो पर पूरी तरह भरोसा नहीं कर सकते हैं क्योंकि अधिकतर जगहों पर देखा गया है कि लोग अंडो को ब्राउन कलर का बना के उसे बाज़ार में बेचने लगते हैं। अगर पोषक तत्वों का बात करें तो दोनो तरह के अंडों से मिलने वाले पोषक तत्वों में सिर्फ 10-15% का ही अंतर होता है। ब्राउन अंडे या देसी अंडे सिर्फ केमिकल और कृत्रिम हार्मोन की अनुपस्थिति के कारण ही ज्यादा हेल्दी होते हैं अन्यथा इसके अलावा देखा जाए तो दोनों सामान रूप से फायदेमंद होते हैं।

READ ALSO: जानिए- आपके लिए गाय का दूध ज्यादा फायदेमंद है या भैंस का दूध

बता दें कि सफेद अंडों के नियमित सेवन से आपको किसी भी तरह का कोई नुकसान नहीं होता है। भले ही इन मुर्गियों में आर्टिफिशियल हार्मोन के इंजेक्शन दिए गये हों लेकिन यदि आप अंडो का सीमित मात्रा में सेवन करते हैं तो ये हार्मोन आपको किसी भी तरह का नुकसान नहीं पहुंचाते हैं। जबकि अगर आप काफी लम्बे समय तक आवश्यकता से अधिक मात्रा में इन अंडो का सेवन करते हैं तो हार्मोनल असंतुलन जैसी समस्याएं हो सकती हैं।

हेल्थ से जुड़ी खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

देखें- ब्रिक्स सम्मेलन में पीएम मोदी ने पाकिस्तान को बताया आतंकवाद की जन्मभूमि

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 17, 2016 1:41 pm

सबरंग