ताज़ा खबर
 

क्या है आंखें फड़कने के पीछे का असली कारण? जानिए ‘मिथ’ और हकीकत के बीच का फर्क

आंखों की मांसपेशियां काफी संवेदनशील होती हैं। इनमें किसी भी तरह की समस्या आंख फड़कने का कारण हो सकती है।
अगर आप आंखों के फड़कने की वजह से परेशान है तो घबराइए मत

आंखों के फड़कने को अक्सर शकुन-अपशकुन से जोड़कर देखा जाता है। इसे कभी-कभी किसी अप्रिय घटना का संकेत भी समझा जाता है। लेकिन क्या आपको पता है कि आपकी शारीरिक सेहत आपकी आंखों के फड़कने का कारण होती है। आंख हमारे शरीर का अहम हिस्सा होते हैं, जिनकी अगर ठीक से देखभाल न हो तो उनमें तमाम तरह के दोष उत्पन्न होने लगते हैं। इन्हीं दोषों में आंखों का फड़कना भी शामिल है। आंखों के फड़कने के कई कारण हैं। आज हम उन्हीं कारणों और उससे निपटने के कुछ आसान से तरीकों के बारे में बात करने वाले हैं।

आंखों की मांसपेशियां काफी संवेदनशील होती हैं। इनमें किसी भी तरह की समस्या आंख फड़कने का कारण हो सकती है। अगर आप ज्यादा तनाव की वजह से ठीक से सो नहीं पाते तो यह भी आपकी आंखों के लिए काफी नुकसान पहुंचाने वाला होता है। इसके अलावा आखों की थकान, आंखों में किसी भी तरह की समस्या या फिर एलर्जी की वजह से भी आंखें फड़कने लगती हैं। अगर आप देर तक कंप्यूटर या फिर लैपटॉप पर काम करते हैं तो इससे आंखों के फड़कने तथा उनमें पानी आने की दिक्कत सामने आती है। आंखों में सूखेपन के कारण, उनमें खुजली की वजह से भी आंख फड़कने लगती हैं। आखों में मैग्नीशियम की कमी, बहुत ज्यादा कैफीन और शराब का सेवन भी आंखों के फड़कने का मुख्य कारण है।

अगर आप आंखों के फड़कने की वजह से परेशान है तो घबराइए मत बल्कि अपनी उंगलियों की मदद से आंखों के आस-पास की मांसपेशियों पर हल्की-हल्की मॉलिश कीजिए। कुछ ही देर में आंखों का फड़कना बंद हो जाएगा। इसके अलावा आंखों के फड़कने पर उसे गुनगुने पानी से धोने से भी काफी आराम मिलता है। आंखों के छोटे-मोटे एक्सरसाइज, जोर-जोर से पलकें झपकाने से और आंखों को अधखुली अवस्था में रखने से भी इस समस्या से निजात मिलती है। आंखों की यह समस्या बहुत ही कम समय में ठीक भी हो जाती है, लेकिन कभी-कभी इसकी अवधि काफी लंबे समय तक बढ़ जाती है। एक हफ्ते से ज्यादा दिनों तक अगर आंख फड़क रही हो तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। यह आंखों की किसी गंभीर समस्या का संकेत हो सकता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.