ताज़ा खबर
 

जानें क्या है खर्राटे आने की वजह और आप इससे कैसे बच सकते हैं

खर्राटों की वजह से लोगों की नींद तो खराब होती ही है साथ ही साथ इसे अच्छी आदत भी नहीं माना जाता है।
खर्राटे को अच्छी आदत नहीं मानी जाती है।

अधिकतर लोग यही सोचते हैं कि खर्राटे सिर्फ पुरुषों को आते है महिलाओं को नहीं, जबकि इस बात में बिल्कुल भी सच्चाई नहीं है। खर्राटे किसी को भी आ सकते हैं। ऐसा माना जाता है कि गले का पिछला हिस्सा जब संकरा हो जाता है और ऑक्सीजन जब उस रास्ते से होकर जाती है तब आसपास के टिशू वाईब्रेट करने लगते हैं। इसी वजह से खर्राटे आते हैं। खर्राटों की वजह से लोगों की नींद तो खराब होती ही है साथ ही साथ इसे अच्छी आदत भी नहीं माना जाता है। इसलिए हर कोई इससे बचने के उपाय ढूंढता रहता है। तो चलिए, आज हम आपको बताते हैं कि आप खर्राटों से बचने के लिए क्या उपाय करें।

1. सोने के तरीके में बदलाव – अगर आपको एक ही करवट पर सोने की आदत है तो अपनी इस आदत को आज ही बदल दीजिए क्योंकि एक ही करवट से सोने पर खर्राटों की समस्या बढ़ जाती है।

2. नाक को साफ रखें- आपको हमेशा अपनी नाक को साफ रखना चाहिए क्योंकि नाक से हम सांस लेते है और सांस लेने में समस्या के कारण ही हमे खर्राटे आते हैं।

3. गर्म पानी का सेवन – गर्म पानी के सेवन से गले की नलियां खुलती है और हम आराम से सांस ले पाते हैं। इसलिए रोज सोने से पहले गर्म पानी का सेवन जरूर करें।

4. ठंडी चीजों का सेवन न करें – ठंडी चीजों का सेवन करने से हमारे गले में सिकुड़न होने लगती है, जो खर्राटों का कारण बनती है। इसलिए ठंडी चीजों के सेवन से परहेज करें।

5. अधिक दवाईयों का सेवन – ज्यादा हैवी दवाईयां और नींद की गोलियां खर्राटों की समस्या को बढ़ा देती हैं। कहा जाता है कि खांसी की दवाइयों की वजह से शरीर की मांसपेशियों को आराम मिलता है जिसकी वजह से भी खर्राटे आते हैं।

6. ज्यादा शराब का सेवन – बहुत कम लोग इस बात को जानते हैं कि ज्यादा शराब के सेवन से भी खर्राटे आने शुरू हो जाते हैं। ज्यादा शराब के सेवन से हमारे शरीर की मांसपेशियों को आराम मिलता है जिसमें जीभ और गले की मांसपेशियां भी शामिल होती हैं। इस वजह से भी खर्राटे आते हैं।

7. मोटापा कम करें – अगर आपको मोटापे की समस्या है तो आज ही से अपने शरीर का वजन कम करना शुरू कर दें, क्योंकि अधिक वजन होने की वजह से टिशू अधिक फैटी हो जाता है जो गले को खुलने से रोकता है जिसकी वजह से सांस लेने में परेशानी होती है और खर्राटे आते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग