ताज़ा खबर
 

इन पांच तरीकों से मिलेगा स्वप्नदोष से निजात, जानें कैसे

वेट ड्रीम्स यानी कि स्वप्नदोष एक अनैच्छिक आर्गेज्म होता है जो किसी को भी तब हो सकता है जबकि वह नींद में हो।
प्रतीकात्मक चित्र

वेट ड्रीम्स यानी कि स्वप्नदोष एक अनैच्छिक आर्गेज्म होता है जो किसी को भी तब हो सकता है जबकि वह नींद में हो। यह पुरुषों में एक आम यौनिक घटना है जो या तो कपड़ों की वजह से या फिर सोने के तरीके की वजह से होने वाली यौन उत्तेजना का रिजल्ट होता है। हफ्ते में एक बार होने वाला स्वप्नदोष सामान्य होता है। बहुत से लोग इसे एक असामान्य घटना के तौर पर देखते हैं और इसे सेक्शुअल डिसऑर्डर समझकर परेशान हो जाते हैं। जबकि वेट ड्रीम्स की वजह से परेशान होने की कोई जरूरत नहीं होती। यह शरीर की कार्यप्रणाली के सुचारू रूप से संचालन का सूचक भी होता है। लेकिन फिर भी अगर आप इससे निजात पाना चाहते हैं तो इसके भी उपाय हैं। पुरुषों में होने वाली इस सामान्य समस्या से बचने के लिए आप इन उपायों को आजमा सकते हैं।

तनाव से मुक्ति – वेट ड्रीम्स होने की संभावना तब सबसे ज्यादा होती है जब आप बहुत ज्यादा तनाव में हों। इसलिए हमेशा अपने आपको तनावमुक्त रखने की कोशिश करें। साथ ही साथ पर्याप्त नींद लें और अपने खान-पान में पोषक तत्वों को शामिल करें। अच्छा खाना, पर्याप्त नींद और नियमित व्यायाम से आप वेट ड्रीम्स से निजात पा सकते हैं।

सोने का तरीका – वेट ड्रीम्स से बचने के लिए आपको अपने सोने के तरीके में बदलाव करने की सख्त जरूरत है। अगर आप नींद में उत्तेजित और स्खलित नहीं होना चाहते तो आपको दाईं ओर करवट करके सोना चाहिए। इसके अलावा आपको बहुत ज्यादा चुस्त अंडरगारमेंट्स पहनने से भी बचना चाहिए।

बहुत ज्यादा पोर्न न देखें – बहुत अधिक मात्रा में खासकर तब जब आप सोने जा रहे हों, पोर्न देखने की वजह से अश्लील विचारों से आपका दिमाग हमेशा भरा रहता है। इस वजह से स्वप्नदोष की समस्या हो सकती है।

ठंडा शॉवर लें – यौनिक संवेदनशीलता का सबसे बड़ा कारण गर्म पानी से नहाना होता है। इसलिए हमेशा ठंडे पानी से नहाने की कोशिश करें। यह जेनिटल सेंसिटिविटी को कम करने में मदद करता है। जिससे स्वप्नदोष की समस्या नहीं होगी।

मसालेदार खाना कम खाएं – मसालेदार खाने की तासीर गर्म होती है। इस वजह से यह स्वप्नदोष को बढ़ावा देते हैं। रात में कॉफी पीना भी वेट ड्रीम्स की समस्या को बढ़ाता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.